दन्तेवाड़ा@ आस्था विद्या मंदिर जावंगा में शाला प्रबंधन समिति के मुखिया बोमडाराम कवासी और पूर्व विधायिका देवती कर्मा में आस्था संस्था को लेकर जबाबी हमले चल रहे है।

मंगलवार को शाला प्रबंधन समिती के अध्यक्ष बोमडाराम कवासी ने 27 जुलाई को आस्था विद्या मंदिर जावंगा में देवती कर्मा के दौरे पर सवाल खड़े करते हुए प्रेसकांफ्रेस कर संस्था में परिवारिक हिस्सेदारी और राजनीतिक रसूख से भरे हुए बड़े आरोप लगाये थे। साथ ही 03 अगस्त को विरोध में मोर्चा खोल दिया है।

इधर देवती कर्मा में भी प्रेसकांफ्रेस कर आरोपो का खंडन और बेबुनियाद बताते हुए। कहा कि आस्था किसी कि निजी संस्था नही है। कांग्रेस शिक्षा में कभी राजीनीति नही करती। किसी शिक्षक को जूते की माला पहनाने का अधिकार बोमडा कवासी को किसने दिया। हमे राजनीति न सिखाये। बोमडा कवासी का ब्यान बौखलाहट से भरा है। इस तरह के घटिया बयानबाजी के बजाय आस्था को सुधारने का प्रयास करे। प्रेसवार्ता में जिलाध्यक्ष विमल सुराना, दीपक कर्मा,सुलोचना वट्टी के साथ अन्य कांग्रेसी मौजूद थे।

सम्बंधित खबर इस लिंक में पढ़े।

*_बड़ी खबर :रिश्तेदारों के हाथ मे कमान सौंपने का देवती कर्मा ने रचा आस्था षड्यंत्र-बोमडा कवासी_* https://www.theaware.co.in/career/2066/