बीजापुर @ :- कुटरु से फरसेगढ़ व तोयनार फरसेगढ़ रोड निर्माण किया गया जबकि यह सड़क आधा अधूरा बनाया गया व बहुत ही घटिया तरीक़े से काम किया गया है पहले सड़क अच्छा था सड़क गिट्टी का था सड़क में कभी कोई गाड़ी नहीं फँसती थी नयी सड़कबनने के बाद लगातार गाड़ियाँ फँस रही है ।आज जगह जगह बड़े बड़े गड़डे हुए है जो बड़ी दुर्घटना होने का संकेत करते है किसी का भी जान माल का नुक़सान हो सकता है उसका ज़िम्मेदार कौन होगा ?

सड़कों पर नए पुल बनाए गए है लेकिन मुरुम मिट्टी व गिट्टी अच्छे से नहीं डाला गया जिसके चलते गाड़ियाँ फँस रही व गड़डे हुए है यही हाल तोयनार से फरसेगढ़ सड़क का है ठेकेदार आधा अधूरा काम करके भाग गया है कामयाजा जनता को भुगतना पड़ रहा है ।यह दोनो सड़कों में बहुत बड़ा भ्रष्टाचार हुआ है लोगों में दोनो सड़कों को लेकर काफ़ी आक्रोश है लोग परेशान त्रस्त हो चुके है सरकार को ठेकेदार चुना लगा रहा है ।सरकारे आ रही है जा रही है।लेकिन सड़कों का काम रुका हुआहै ज्यों का त्यों है हमारे एरिया को नक्सल इलाक़ा कहकर 20 सालों से विकास से दूर रखा जबकि रोड के नाम पर केवल काग़ज़ में सड़क बनकर करोड़ों हड़प गए हमारा देश चाँद में पहुँच चुका है और मेरे एरिया को लगातार पीछे धकेल कर सरकारें शौतेला व्यवहार कर रही ।
स्वास्थ्य का मामला हो बिजली हो या शिक्षा हो सभी में सरकार पीछे ढकेलने का काम कर रही है । अगर सरकारें ऐसा ही करना चाहती है तो सड़क को खोद कर ले जाए ।नहीं चाहिए ऐसा सड़क जिसमें भ्रष्टाचार होता हो जिनका मक़सद लोगों को परेशान करना हो सरकार का पैसा बेवजह ख़र्च होता हो रहा है पहले जैसा सड़क था हम उसी में आना जाना कर लेते ।अगर ऐसा ही हाल रहा सड़क का सुधार पाँच दिवस के भीतर नहीं हुआ तो मैं हज़ारों की संख्या में लोगों को व जनप्रतिनिधियों को लेकर सड़कों पर उतरूँगा व उग्र आंदोलन करूँगा जिसका जिम्म्मेदार शासन प्रशासन की होगा। (उक्त बातें प्रकाश गोटा ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करके कही हैं। )