द अवेयर बीजापुर @ बीजापुर जिले के बासागुड़ा और सारकेगुड़ा सीआरपीएफ कैंप के जवानों द्वारा प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए 6 गांव के लोग आज कलेक्टर बीजापुर से मिले।

बासागुड़ा, सारकेगुड़ा ग्राम पंचायत के 6 गांव चीपुरभट्टी, पिसेपारा, पकेला, पेगड़ापल्ली, कोत्तागुडा, बुड़गीचेरु के दो दर्जन से ज्यादा ग्रामीणों आज बीजापुर कलेक्टर से मिलने पहुंचे जिसमें सारकेगुड़ा सीआरपीएफ और बासागुड़ा थाना के जवानों द्वारा विगत कई दिनों से इन ग्रामीणों को नक्सली बताकर परेशान करने का आरोप लगाया है चार बिंदुओं पर ग्रामीणों ने कलेक्टर से कार्रवाई की गुहार लगाई है
1. फोर्स के जवानों द्वारा गांव में घुसकर किसी भी व्यक्ति को पकड़ कर ले जाया जाता है।
2. उन्हें नक्सली बताकर मारपीट कर पैसे मांगा जाता है
3.उन्हें गंदे तरीके से गाली गलौज किया जाता है और डराया धमकाया जाता है।
4. जातिगत गाली गलौज और अपशब्दों का प्रयोग भी किया जाता है।

ग्रामीणों ने एक आवेदन देकर कलेक्टर बीजापुर से गुहार लगाई है की भविष्य में किसी प्रकार की अगर पूछताछ सुरक्षा बल के जवानों द्वारा की जा रही है तो ग्राम पंचायत सरपंच के माध्यम से सूचना देकर या वारंट हो तभी उन्हें पकड़ा जाए।

बासागुड़ा और सारकेगुड़ा से पहुंचे ग्रामीणों ने सीपीआई जिला सचिव कमलेश झाड़ी के नेतृत्व में कलेक्टर बीजापुर से मुलाकात की है। सीपीआई जिला सचिव ने बताया कि कलेक्टर के डी कुंजाम जी ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए इस पर पुलिस अधिकारियों से बात करने की बात कही है। कलेक्टर के आश्वासन के बाद ग्रामीण बासागुड़ा के लिए लौट गए हैं।