दन्तेवाड़ा@ दन्तेवाड़ा उपचुनाव के प्रचार में सत्तारूढ़ दल कांग्रेस जीत हासिल करने के लिए अपनी पूरी शक्ति के साथ दन्तेवाड़ा के दंगल में ताकत झोंक रही है। छग कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष मोहन मरकाम खम्ब की तरह दन्तेवाड़ा चुनाव की बागडोर स्वयं अपने हाथों में ले पूरी कमान कंट्रोल लगातार कर रहे है।

वही चुनावी मौसम की धमाचौकड़ी के बीच कांग्रेस प्रत्याशी देवती कर्मा के साथ कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष मोहन मरकाम की जमीन में बैठकर भोजन करती एक तस्वीर दिखाई दी. वैसे जमीन पर भोजन करने की बात कोई नयी बात नही है. मगर इस वक्त कांग्रेस सत्त्ता में है और सत्तापक्ष हमेशा बाहुबली की तरह जनता के बीच देखा जाता है। क्योकि अभी कुछ वक्त पहले ही भाजपा प्रत्याशी ओजस्वी मंडावी की एक तस्वीर चिरप्रतिद्वंद्वी कांग्रेस प्रत्याशी देवती कर्मा और प्रदेशाध्यक्ष मोहन मरकाम के पैर छुते नजऱ आई जिसे दन्तेवाड़ा की जनता ने संस्कार के तराजू में तौलकर तवज्जो जमकर दिया था।

ठीक उसी तरह से ये तस्वीर भी कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष मोहन मरकाम और कांग्रेस प्रत्याशी देवती कर्मा के जमीनी संस्कार से जुड़े इतिहास की ज़मीनी हक़ीक़त से भरी झलक दिखाते नजऱ आ रहे है।
बता दे कि देवती कर्मा की यह पहली तस्वीर इस अंदाज की नही दिखाई दी है। इससे पहले भी खेतों में हँसिया लेकर धान काटती तस्वीर, खेतो से मजदूरों के साथ काम करती तस्वीर नजऱ आ चुकी है। दंतेश्वरी धाम में संस्कृति के संस्कार की धानी ओढ़े ये चुनावी रण का मुकाबला दो संस्कारिक महिलाओं के बीच कांटे की टक्कर दिखा रहा है।एक तरफ ओजस्वी मंडावी ने राजनीतिक शुचिता का प्रमाण बड़ो के भले ही वे विपक्ष के बड़े हो पर पैर छूकर आदर सम्मान दिखा संस्कार बताये है। तो वही दूसरी तरफ ज़मीन पर भोजन करती ये तस्वीर छग की सत्ता पर काबिज कांग्रेस के अर्श का सफ़र होते हुये भी फर्श से रिश्ता बता रही है.साथ ही कांग्रेस पार्टी के जमीनी वजूद को जिंदा रखने दस्तान की झलक दिखा रही है।