सभी नेताओं के व्यक्तिगत प्रदर्शन पर नज़र बनाए है भाजपा

तीन कंट्रोल रूम के ज़रिए अमित शाह तक पहुँच रही हर घंटे की रिपोर्ट

उपचुनाव को लेकर बेहद गम्भीर है भाजपा संगठन

दंतेवाड़ा. उपचुनाव में अब मतदान को लेकर महज़ कुछ घंटे ही बचे हैं. इस उपचुनाव में सभी राजनैतिक दलों ने कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है. हालाँकि मुख्य मुक़ाबला भाजपा और कॉग्रेस के बीच ही देखने को मिल रहा है. दोनों ही प्रमुख दलों के बड़े नेताओं ने इस चुनाव के प्रचार अभियान में बढ़चढ़कर हिस्सा लिया. हालाँकि आचार संहिता के तहत 48 घंटे पहले चुनावी शोरगुल थम चुका है, और सभी नेता विधानसभा छोड़ चुके हैं अब प्रत्याशी ही घर-घर जाकर वोट की अपील करेंगे.
हर गतिविधि पर नज़र बनाए हैं अमित शाह-
भाजपा के विश्वस्त सूत्रों की माने तो इस उपचुनाव को संगठन बहुत गम्भीरता से ले रहा है. भाजपा के लिए ये चुनाव महज़ जीत हार तक सीमित नहीं है. इस उपचुनाव को जीतकर भाजपा अपने दिवंगत विधायक भीमा मंडावी को सच्ची श्रद्दांजलि देना चाहती है. यही कारण है कि राज्य से लेकर केंद्रीय नेतृत्व इस चुनाव की हर गतिविधि पर नज़र बनाए हुए है. संगठन की गम्भीरता का अंदाज़ा इस बात से लगाया जा सकता है की भाजपा के स्टार प्रचारक समेत प्रभारी व सह प्रभारी जगदलपुर में डेरा जमाए हुए हैं. हर गतिविधि पर नज़र रखने दंतेवाड़ा, जगदलपुर और रायपुर में कंट्रोल रूम स्थापित किए गए हैं. इनके ज़रिए ही उपचुनाव की रिपोर्ट केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा तक पहुँचाई जा रही है. इसके अलावा स्थानीय से लेकर प्रदेश स्तर के नेताओं के क्रियाकलाप की जानकारी भी केंद्रीय नेतृत्व तक पहुँचाई जा रही है. विश्वस्त सूत्रों की माने तो जिले और प्रदेश स्तर के नेताओं के प्रदर्शन के आधार पर उनका रिपोर्ट कार्ड केंद्रीय नेतृत्व को भेजा जाएगा. कहा जा सकता है इस उपचुनाव के नतीजों पर प्रत्याशी के साथ साथ भाजपा संगठन के नेताओं का भविष्य भी टिका हुआ है. सूत्रों की माने तो परिणाम के आधार पर संगठन जिले में बड़ा फेरबदल भी कर सकता है.