दन्तेवाड़ा@ गीदम इलाके में जुआ खेलते पुलिस महकमे के एएसआई गीता बंजारे पर दन्तेवाड़ा एसपी अभिषेक पल्लव ने कार्यवाही कर मामले के जांच के आदेश दिये है। बताया जा रहा है उक्त एएसआई सीएएफ कैम्प तुमकपाल में विगत 6 महीनों से पदस्थ है। मगर उनकी काल डिटेल खंगालने से खुलासा हुआ है कि वे अधिकांश समय दन्तेवाड़ा, गीदम के लोकेशन में थे। इस लिहाज से थे जबकि दन्तेवाड़ा से तुमकपाल कैम्प की दूरी 40  से 45 किलोमीटर लगभग है। फिर भी एएसआई रैंक के अधिकारी की कॉल डिटेल दीगर इलाको में मिलना बहुत से संकाओ को जन्म देता है। एसपी कि इस कार्यवाही से गीदम इलाके खुशी है। क्योकि अक्सर ऐसे मामलों में छोटी कार्यवाहियां कर मामले को रफा दफा कर दिया जाता है।   

अभिषेक पल्लव दंतेवाडा एसपी

नक्सल प्रभावित इलाके में पदस्थ जवानों को स्वयं अपनी सुरक्षा का ख्याल रखकर पदस्थ थाने या कैम्पो से सुरक्षा व्यवस्था के बीच निकलना चाहिए। इन्ही सब प्रमुख वजहों से यह कार्यवाहीअधिकारी द्वारा सही है।
दूसरी तरफ गीदम क्षेत्र के जिस इलाके में जिस जुआ की की फड़ पर यह कार्यवाही हुई है। वहाँ और भी सरकारी कर्मचारी बैठे हुए थे जो theaware के वीडियो स्पष्ट भागते दिख रहे है। स्वास्थ्य विभाग, फारेस्ट विभाग, के भी कर्मचारी मौजूद है। मगर उन पर अब तक कार्यवाही को लेकर दन्तेवाड़ा प्रशासन ने कोई ठोस कदम नही उठाया। हालांकि शीर्ष नेतृव पर बैठे जिलाधिकारी दन्तेवाड़ा कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने कार्यवाही की बात कही है। मगर अब तक किसी पर कार्यवाही नही हुई है।
    अब देखने वाली बात यह है कि जिस तरह से दन्तेवाड़ा एसपी ने मामले की गंभीरता को मीडिया से सज्ञान में लेकर कार्यवाही कर एएसआई  को सस्पेंड कर बड़ा सन्देश दिया कि पुलिस विभाग में अनुशासनहीनता बर्दाश्त नही है। क्या जिला प्रशासन भी इस तरह की कोई कार्यवाही करेगा या नही??