बीजापुर :- मुख्य सड़कों से ग्रामीण क्षेत्रों को जोड़ने के लिए जिले में सैकड़ों सड़कों का निर्माण कार्य किया जा रहा है। प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ अभिकरण द्वारा देपला से अटुकपल्ली तक 9.01 किमी सडक़ करीब 4 करोड़ की लागत से कराई जा रही है। स्तरहीन मिट्टी, मुरुम कार्य के लिए ठेकेदार को डेढ़ करोड़ का भुगतान भी कर दिया गया है। अब सड़क की गुणवत्ता और भुगतान को लेकर सवाल उठने लगे हैं।
गुणवत्ताहीन सड़क के सवालों पर प्रधानमंत्री ग्राम सड़क अभिकरण के ई ई एस के साहू ने ऑनकैमरा बेतुका बयान दिया है। जहां श्रीमान ईई महोदय ने डेढ़ फीट के बोल्डर मिट्टी कार्य मे डालने की बात कर रहे हैं ईई के दावों के इतर सड़क पर बोल्डर मुरमीकरण के कार्य मे साफ देखे जा सकते हैं।
बड़ा सवाल आखिर ई ई एसके साहू अपने मातहत किस कर्मचारी को बचाने की कोशिश कर रहे हैं। आखिर ठेकेदार से ऐसा क्या लगाव की गुप्त कंस्ट्रक्शन की हर सड़क पर महज औपचारिकता ही निभाई जा रही है। देपला अटुकपल्ली सड़क निर्माण कार्य और डेड करोड़ के भुगतान मामले में एसडीओ मुविश लहरे और ईई एस के साहू की भूमिका भी संदेहास्पद है? लगातार मीडिया में खबरें आने के बाद बीजापुर कलेक्टर के डी कुंजाम ने सड़क का स्वयं निरीक्षण करने और कार्यवाही करने की बात कही है। देखें तस्वीरें और EE साहब का बेतुका बयान.