दौड़ दौड़ कर भाग रहे जुआड़ी
भागते जुआड़ी

दन्तेवाड़ा@ गीदम थानाक्षेत्र जुआ के लिए बदनाम थानाक्षेत्र है। जहाँ लगातार जुआ सट्टा और शराब का कारोबार मकड़जाल की तरह अपने पैर जमाये हुए है। इस पर पुलिस की नकेल भी न के बराबर है। और उनकी कार्यवाहियां छोटे फड़ो में होकर सिमट जाती है।

दरअसल मीडिया रिपोर्टरों की टीम इस पुलिसिया मिलीभगत का खुलासा करने उन ठिकानों में पर दबिश दी। जहाँ 1-2 हजार का जुआ नही लाखो रुपये के दाव लग रहे थे। मीडिया टीम की दबिश से जुआड़ियों की हवा खसक गयी और वे जुआ की फड़ से नोटों की गड्डिया लेकर जंगलो में भागने लगे।

इन्ही जुआड़ियों में स्वास्थ्य विभाग दन्तेवाड़ा का ड्रेसर एम0एल राठौर के साथ कई नामचीन चेहरे मौजूद थे। नामचीन चेहरों में पुलिस के अधिकारी भी जुआ खेलते नजर आये। अब आप समझ ही गये होंगे कि कार्यवाही किस वजह से नही होती। उसी दिन गीदम पुलिस ने एक जगह रेड मारकर 8 जुआड़ियों को 7 हजार 3 सौ 40 रुपये बरामद कर कार्यवाही भी की जिसकी प्रेसनोट पुलिस मीडिया के शोसल ग्रुपो में डाला गया था। मगर जिस फड़ पर मीडिया पहुँची थी वहां लाखो रुपये लेकर जुआड़ी खेल रहे थे। जबकि वह फड़ छोटी बताई जा रही है। और जिस फड़ पर बड़े जुआड़ी बैठे थे उस बड़ी फड़ से महज 7340 रुपये कि कार्यवाही बड़े सवालों को जन्म देती है।


 सरकारी कर्मचारी अपनी डियूटी छोड़कर जुआ खेलने मशगूल रहेंगे। तो किस तरह से ये अपनी जबाबदारी निभायेंगे। सट्टे से जुड़ा  theaware.in में  जल्द बड़ा खुलासा पढ़िये। जिनमें हम उस पुलिस विभाग के अधिकारी का खुलासा करेगे। जो डियूटी को धता बताकर गलत कामो को शय देते है।