बीजापुर @:- करीब 8000 हजार मजदूर रोजगार की तलाश में छत्तीसगढ़ से तेलांगाना पलायन कर गए थे. एकाएक कोरोना महामारी रोकने देशभर में 3 चरणों मे लॉकडाउन लागू कर दिया गया है. बॉर्डर इलाके में फंसे 5000 हजार मजदूर जंगली रास्तों से वापिस आ चुके हैं। शुक्रवार को झारखंड, उत्तरप्रदेश के 91 मजदूर यहां पहुंचे थे जिन्हें बसों से घर भेज दिया गया है। 14 मार्च को बीजापुर के 15 नर्सिंग छात्र हैदरबाद अपना रिजल्ट लेने गए थे जो लॉकडाउन के बाद तेलांगाना में फंसे हैं। सुने मार्मिक वीडियो,
एक छात्र योशप लाटकर ने वीडियो मेसेज भेजकर वापिस लाने की गुहार प्रशासन, सरकार से लगाई है। वीडियो में छात्र ने संभावना व्यक्त की है यदि उसे हैदराबाद में कुछ होता है तो घर वाले भी उसे आखिरी बार नही देख पाएंगे। वो जहां फंसे हैं वो ग्रीनजोन क्षेत्र है उन्हें जल्दी बीजापुर लाया जाए। जो छात्र तेलांगाना में फंसे हैं उनके नाम- योशप लाटकर, पुष्पलता हिकमी, स्टीवेन लाटकर, विमला लाटकर, फूलकुमारी, प्रियंका राणा, निकिता पायम, सडवली यालम, संजय मड़े, सुमन दुर्गम, श्यामलता झाड़ी, मलेश दुर्गम, इजराइल लाटकर शामिल हैं।