दन्तेवाड़ा@पंकज सिंह भदौरिया
दन्तेवाड़ा जिले में ऐतिहासिक पुरातात्विक महत्व की नगरी बारसूर में नागवंशीय शासनकाल के मंदिर शिवालय तालाब बहुत सी प्राचीन धरोहर है। दशमी शताब्दी में बसाई गयी इस नगरी में हाल में ही एक नये मन्दिर के अवशेष मिले है।
जिसे क्षेत्रीय हल्बी भाषा मे अष्ट खम्ब मन्दिर ग्रामीण कह रहे है।
दरअसल टूरिस्ट गाइडो और बारसूर के ग्रामीण अनिल पुजारी,राजेश पुजारी, पंचोराम भारद्वाज के साथ गणेश मंदिर से 100 मीटर दूर तीन तलाबों की मेड़ के बीच मे मन्दिर के अवशेष मिले है। जानकारी के लिए बता दे कि प्राचीनकाल में बारसूर को बाणासुर ने बसाया था। जिसका जिक्र हिन्दू महाग्रंथ रामायण में भी मिलता है।
समय समय पर बारसूर नगरी के आस पास इसी तरह के अवशेष मिलते रहते है। जो इतिहास की जानकारीयो से इस नगरी को ऐतिहासिक महत्व का स्थान बनाते हुए प्रतीत होते है।