दंतेवाड़ा जिले के बारसूर से लगे कोरकोटी पंचायत में दंतेवाड़ा जिले में ऐसा कोई पंचायत नहीं होगा जो पूरे पंचायत के ग्रामीणों के साथ नया साल मनाता हो । और यहां के लोगों का कहना है कि हम हर वर्ष की तरह इस साल भी हर्षोल्लास के साथ नया साल मनाते है । और इस बीच बाहर से आए हुए मेहमानों को श्रीफल और साल देकर सम्मानित किया गया है और स्थानीय ग्रामीणों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों भी आयोजन किया तथा इस में हर गांव से आए हुए ग्रामीणों ने भाग लिया है। और डोल नृत्य तथा स्थानीय लोगों द्वारा गोंडी गीत वह सरगुजिया तथा सुया गीत पर भी मुख्य अतिथि को थिरकाये। इस बीच बारसूर से आए हुए मुख्य अतिथि जसवीर नेगी , राकेश कुमार नेगी वह रामलाल नेताम , विशिष्ट अतिथि बैसू राम मंडावी सरपंच ,कोरकोटीविशिष्ट अतिथि सोनधर कश्यप,कोरकोटीतथा दंतेश्वरी युवा अध्यक्ष मोती राम कश्यप , मनीष व अनिल रुपेश ,बुधराम, मुन्ना , बलराम मैजूद थे इसी दौरान कोरकोटी के सरपंच बैसू राम ने कहा कि हम आदिवासियों की पंडुम आदिवासियों की रितीरिवाज के अनुसार मनाते हैं हमारी 2साल है जो कि आदिवासी समाज के लिए गर्व की बात है।
बारसूर से लगे हुए कोरकोटी में पिकनिक तेवार जैसे दर्जनों गांवों जंगलों से घिरे हुए हैं । इनकी खूबसूरती व बस्तर की मनमोहक प्रस्तुति देखने के लिए रायपुर के कबीरधाम जिले से आए हुए पर्यटकों को बाहने लगी आदिवासियों के बीच रहने का मन पर्यटन मनीष तिवारी ने कहा कि हम तो सिर्फ वीडियो में आदिवासियों की पंडुम त्यौहार देखीं थीं परन्तु आज हम बस्तर संस्कृति अपने करीब से देखा और फिर से दुबारा बस्तर आने की उम्मीद की । सरपंच बैसू ने बाहर से आए हुए मेहमानों को ग्रामीणों के साथ बैठाकर भोजन भी करवाया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

The Aware News
%d bloggers like this: