दन्तेवाड़ा-दंतेवाड़ा में जवानो की आत्महत्या का सिलसिला थमने का नाम ही ले रहा। कुछ दिन पहले पोटाली कैम्प में एसटीएफ कर एक जवान ने ख़ुदकुशी की थी, इसके बाद कल रात फिर कुआकोंडा थानाक्षेत्र के बड़े गुडरा सीआरपीएफ 195 बटालियन में तैनात एक जवान ने डियूटी के दौरान खुद को गोली मारकर ख़ुदकुशी कर ली। मृतक जवान सुब्रतो सरकार पश्चिम बंगाल का निवासी है।
जिसने डियूटी के दौरान अपनी सर्विस रायफल इंसास हथियार से खुद गोली मारी है। जिस पर बट नम्बर 47 पड़ा हुआ है। गोली चलने की आवाज से कैम्प में तैनात अन्य जवानो में अफ़रा तफ़री मच गयी। लेकिन कुछ देर में जवानो को सुब्रत की ख़ुदकुशी का पता लग गया। जिस पोस्ट पर जवान ने आत्महत्या की वह पूरी तरह से खून से भरा हुआ था.आत्महत्या का कारणो का फिलहाल पुष्ट तरीके से पता नही चला है। बड़ेगुडरा में तैनात पोस्ट पूरी तरह से नेटवर्क ज़ोन में है। घटना से पहले और घटना के समय सुब्रत लगातार फोन पर परिजनों से कर रहा था। इस बात से अंदाज़ा लगाया जा रहा है कि घटना के पीछे कोई पारिवारिक तनाव हो सकता है।

घटना शनिवार रात तकरीबन 8 से 9 के बीच घटी है। घटना के दूसरे दिन कुआकोंडा पुलिस मौके पर पहुँचकर मृतक जवान का शव व खुदकुशी में इस्तेमाल हथियार को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करवाने के लिए दन्तेवाड़ा जिला अस्पताल भिजवा दिया, साथ ही घटना स्थल के पास से मृत जवान का एक मोबाइल फोन भी पुलिस ने बरामद किया, जिस पर फिंगर प्रिंट की वजह से लॉक लगा हुआ है। पुलिस कॉल डिटेल खंगालकर मौत की वजह जानने में जुट गई है। बीते वर्ष में आत्महत्या के बहुत से मामले जवानों के निकलकर आ रहे है। सरकार को चाहिए कि तनावग्रस्त माहौल से कैसे जवानों को दूर रखा जा सके इसका कोई ठोस उपाय खोजा सके।