बीजापुर @ बीजापुर में ठेकेदार दारा मानकों और मापदण्डों को ताक पर रखकर गुणवत्ताहीन भवन का निर्माण करवाया जा रहा है। स्टेट हाईवे से करीब 50 मीटर की दूरी पर निर्माणाधीन पोटा केबिन भवन के निर्माण में लापरवाही बरती जा रही है। जिला निर्माण समिति दारा 1 करोड 32 लाख की लागत से इस भवन का निर्माण कार्य करवाया जा रहा है।

बीजापुर के उसूर विकासखण्ड के दुग्गईगुडा में पोटा केबिन के लिए भवन का निर्माण कार्य जिला निर्माण समिति दारा करवाया जा रहा है। स्टेट हाईवे से करीब 50 मीटर की दूरी पर ही इस भवन का निर्माण कार्य चल रहा है। भवन के निर्माण का ठेका सत्ताधारी दल के नेता इम्तियाज खान को मिला है। भवन का निर्माण कार्य फ्लिंथ लेवल तक हुआ है।

ग्राउंड लेवल से प्लिंथ बीम तक मुरूम से फिलिंग की जाती है। मगर ठेकेदार दारा तय मापदण्डों को ठेंगा दिखाते हुए मिट्ठी से फिलिंग कर खानापूर्ति की जा रही है। दरअसल इस्टीमेट में मुरूम का दाम अधिक होता है।  मिट्ठी से फ्लिंथ बीम तक फिलिंग कर ठेकेदार दारा मुरूम का दाम हासिल करने का जुगाड जमाया जा रहा है। बता दें कि ग्राउंड लेवल से फ्लिंथ बीम तक मिट्ठी से फिलिंग किया जाता है तो कंपेक्षन अच्छा नहीं होता। जिस कारण भविष्य में भवन का फर्ष जल्द ही उखड जाता है। बडा सवाल ये कि स्टेट हाईवे से महज 50 मीटर की दूरी पर हो रहे इस भवन निर्माण में ठेकेदार गुणवत्ता के साथ कैसे समझौता कर रहा है।

इधर जिले के कलेक्टर के.डी. कुंजाम ने कहा कि वे जल्द ही इस भवन के निर्माण कार्य की जांच करवायेगें। दोषी पाये जाने पर संबंधितों पर कार्रवाई भी करेंगे। उधर भाजपा जिलाध्यक्ष श्रीनिवास मुदलियार ने सत्ताधारी दल और प्रषासन को आडे हाथों लेते हुए कहा कि सत्ता का धौंस दिखाकर सत्ताधारी दल के नेता जिले में स्तरहीन निर्माण कार्यों को अंजाम दे रहे हैं। प्रशासन भी सत्ताधारी दल के इस मनमानी के खिलाफ किसी भी तरह की कोई कार्रवाई करने से बच रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

The Aware News
%d bloggers like this: