दंतेवाड़ा@ देश के कुछ राज्यो में बर्ड फ्लू के प्रकोप से पक्षियों की मौत हो रही है, इसको देखते हुये दंतेवाड़ा पशुधन विभाग भी सतर्कता बरतने के लिये एडवाइजरी जारी कर हाल में ही कर्मचारियों के लिए बैठक भी किया था। लेकिन दंतेवाड़ा जिले में दीगर प्रदेश आंध्र-तेलंगाना से बायलर मुर्गो की खेप बॉडर क्रॉस कर दंतेवाड़ा जिले के नकुलनार तक आसानी से पहुँच रही है। जो कि बेहद ही खतरे की घण्टी बजाती नजर आ रही है।

शुक्रवार को सुबह नकुलनार में 03 बायलर की मुर्गे गाड़िया नकुलनार में पहुँचकर पोल्ट्री फार्म व्यसाय करने वाले को मुर्गे बेच रहे थे. जिसे रिपोर्टरों ने देखकर जिला पशु चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर अजमेर सिंह कुशवाहा को दी। गाड़ियों को तुरंत कुआकोंडा थाने में जांच पड़ताल के लिये खड़ा करवा दिया गया है, जहाँ गाड़ियों में मुर्गे कहा से और किन किन रास्तो से गुजरते हुये नकुलनार में बेचा जा रहा था इसका पता लगाया जायेगा।

दंतेवाड़ा जिले में लगभग 200 से अधिक मुर्गा व्यवसाय करने वाले जिले के सभी जगह है। बर्ड फ्लू का वायरस पक्षियों के थूक, स्वेब, और मल में होता है। इसका वायरस इंसानो में मुँह, नाक और आंखों से प्रवेश कर सकता है। जो कि बेहद ही खतरनाक है। इसलिए इन दिनों इस खतरनाक प्रकोप को रोकने की दंतेवाड़ा जिले में कोशिशें की जा रही है। मगर उसकी तैयारियां आधी अधूरी नजर आ रही है।