दन्तेवाड़ा@ कोरोना संक्रमण के चलते देश इस वैश्विक महामारी को रोकने में लगा है, मगर दन्तेवाड़ा में कुछ लोग सरकार की इस मुहीम में पलीता लगाने में कोई कोर कसर नही छोड़ रहे है। ऐसे में प्रशासन एक्शन मोड पर ताबड़तोड़ कार्यवाहियों को कर ऐसे लोगो को सबक सिखा रही है।

दरअसल बचेली एसडीएम प्रकाश भारद्वाज को बचेली नगर में होटल व्यवसाईयों के चोरी छिपे होटल चलाने की सूचना मिली थी। इसी सूचना के आधार पर एसडीएम खाद्य विभाग और नगर पालिका बचेली अधिकरी आईएल पटेल के नेतृत्व में छापामार शहर में कार्यवाही की।

सबसे पहले बचेली के बाबा मिष्ठान के संचालक रघुनाथ दत्त पर कार्यवाही हुई क्योकि उनके होटल में पुराने गुलाब जामुन की बिक्री हो रही थी. बने हुए समोसा काउंटर पर रखे हुए थे.होटल के अंदर कर्मचारियों को बिना सुरक्षा मास्क के काम करवाया जा रहा था. कोई सेनेटाइजर हैंड वाश तक मौजुद नही था, खाद्य सुरक्षा मानकों को ताख में रखकर होटल चोरी छिपे चलाया जा रहा था।

जबकि इस समय होटल रेस्टोरेंट बन्द करने के आदेश सरकार ने दिये है, होटल व्यवसाई डेली नीड्स की आड़ में समोसा मिठाई बेच रहा था. जिस पर 20 हजार रुपये का जुर्माना ठोका गया। ऐसे ही नारायन होटल पर भी कार्यवाही करते हुए 10 हजार रुपये की पेनाल्टी लगाई गई।

इसके अलावा तीसरी कार्यवाही गायत्री प्रोविजन स्टोर आलू अधिक दाम में बेचते हुए पकड़ा गया जिस पर आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत 3 हजार रुपये की पेनाल्टी संचालक राघव प्रसाद साहू पर ठोकी गयी।

सभी पर कार्यवाही करने के दौरान खाद्य सुरक्षा अधिकारी सुष्मित सेन और फ़ूड इस्पेक्टर सुशील विश्वकर्मा भी थे। सभी पर छतीसगढ़ एपीडेमिक एक्ट 1986 और शासन के आदेश उलंघन करने पर आईपीसी की धारा188 के तहत कार्यवाही हुई।