दंतेवाड़ा: छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने अपना पहला बजट पेश किया है। कांग्रेस सरकार के इस बजट पर भाजपा जिला अध्यक्ष चैतराम अटामी ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए इसे गौविहीन गोठान जैसा बजट बताया। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार भूपेश सरकार के गोठान में गाय बैल नही है खाली पड़ा है वैसा उनका बजट भी है। गरीब, आदिवासी और युवाओं के लिए इस बजट में कुछ भी नया नही दिख रहा है। जिले में संचालित पुराने योजनाओं को अमली जामा पहनाने की कोशिश की गई है, नवाचार कहीं नजर नही आ रहा है। श्री अटामी ने कहा कि कांग्रेस जन घोषणा पत्र को भूल कर आधी अधूरी बातें कर रही है। क्षेत्र के लोगों से वादे कर सरकार में आए भूपेश सरकार ने युवाओं, महिलाओं व सभी वर्गों को छलने का काम किया है। इस बजट में कोई विजन दिखाई नही पड़ता है। सरकार की नरवा, गरुवा, घुरुवा और बाड़ी का नारा भी खोखला साबित हुआ है। इस योजना में करोड़ों रुपये फेंकने के बाद बजट में इसका कोई जिक्र भी नही है।किसानों को कर्ज के नाम पर छलने के बाद बिजली बिल हॉफ करने के वादे में भी सरकार फैलवर साबित हुआ है। बिजली बिल हाफ के बजाय बिजली को ही हाफ करने वाली यह सरकार केवल 400 यूनिट तक हॉफ की बात करके घरेलू उपभोक्ता के साथ साथ इंडस्ट्री को भी धोखा दिया है। उन्होंने कहा कि बजट में बेरोजगारों को 2500 रुपए देने का कहीं कोई जिक्र नहीं है वहीं 60 वर्ष वालों को एक हजार व 75 वर्ष वालों को 1500 रुपए प्रतिमाह, व विधवाओं को एक हजार रुपए प्रतिमाह की बात ना कर भूपेश सरकार ने प्रदेश को ठगने का काम किया है। उन्होंने कहा कि इस बजट में सिंचाई के लिए कोई नवाचार दिखाई नही दे रहा है। भूपेश सरकार ने कृषि और सिंचाई के नाम पर मत्स्य पालन से ऊपर उठकर कोई बात ही नही की है। इस बजट में किसानों के लिए स्थायी निर्माण, उच्च शिक्षा, स्कूल शिक्षा को भी निराश किया गया है। जिले में संचालित स्टाफ़विहीन महाविविद्यालयों में कोई नई नियुक्ति का जिक्र भी नही है। उन्होंने कहा कि भूपेश सरकार के इस बजट से जिला ही नही पूरा प्रदेश 100 साल पीछे जाने के रास्ते पर बढ़ चला है।