दन्तेवाड़ा@ दन्तेवाड़ा जिले के सुदुर ग्रामीण अंचलों में छुपी हुई युवाओं की प्रतिभाओं को तलाश करने का और उन्हें प्रोत्साहित कर नई दिशा देने का युवा उत्थान मिलन समारोह दन्तेवाड़ा ब्लाक के ग्राम पंचायत केशापुर में दसवीं बारहवीं में पढ़ने वाले छात्रों के लिए कार्यक्रम आयोजित हुआ। युवा उत्थान मतलब युवाओं के केरियर की काउंसलिंग कर उन्हें नई दिशा देने के लिए था। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में डॉक्टर संजय बघेल के साथ डॉक्टर देश दीपक, डॉक्टर प्रवीण(बबला) चिकित्सा के क्षेत्र से मौजूद थे तो वही सुरेश कर्मा सर्व आदिवासी समाज अध्यक्ष के साथ ग्राम सरपंच नरेंद्र ओयामी भी उपस्थित रहे।

आयोजित कार्यक्रम में ग्रामीण अंचलों के बच्चों की भविष्य की पढ़ाई हेतु रुचि अनुरूप केरियर काउंसलिंग किया गया, साथ ही बच्चो के जिज्ञासा से भरे प्रश्नों के कार्यक्रम में मौजूद विशेषज्ञों से चर्चा भी करवाई गई।
कार्यक्रम में सुरेश कर्मा ने आयोजन की तारीफ़ करते हुए कहा कि दन्तेवाड़ा जिले में यह स्वप्रेरित पहली पहल है इसे जिले के अन्य हिस्सों तक आयोजन करना है। डॉक्टर प्रवीण ने बच्चो की जिज्ञासा से भरे प्रश्नों का उत्तर दिया तो वही डॉक्टर देश दीपक ने स्वामी विवेकानंद की जीवनशैली के उदाहरण से बच्चो को मातृभूमि की सेवा और कार्य की प्रेरणा कैसे की जाती है बताया। इसी कड़ी में डॉक्टर संजय बघेल ने इस तरह के प्रयास को मॉडल आयोजन बताते हुए ग्रामवासियों के स्वतः प्रयास की सराहना की साथ ही इसे बच्चो के बेहतर कल की ठोस शुरुवात बताया उन्होंने स्वयं इस तरह का आयोजन अपने गृहग्राम में करने की बात भी कही ।

सबसे खास बात यह है कि यह आयोजन प्रशासन की तरफ से नही था, इस आयोजन की पहल शिक्षक प्रमोद कर्मा, और शिक्षित ग्रामीणों की सकारात्मक पहल का हिस्सा है। क्योकि आयोजन में मिड़कुलनार,नेतानार से छात्र और पालक के साथ ग्रामीण मौजूद थे, जिनके लिए भोजन पानी और बच्चो के लिए प्रोत्साहन उपहार स्वयं एक दूसरे के सहयोग से जुटाई गई थी।

इस लिहाज से यह एक उत्कृष्ट और सरानीह पहल ग्रामीण इलाकों में है ।