दंतेवाड़ा@6 दिनों से अनिश्चित कालीन हड़ताल पर बैठे स्थानीय अतिथि शिक्षको द्वारा अपनी सेवा बहाली एवं अन्य चार-सूत्रीय माँगो को लेकर अनिश्चत कालीन हड़ताल पर दंतेवाड़ा में डटे हुए हैं।

कोरोना काल के चलते सभी स्कूल कालेज बंद कर दिया गया है, इस दौरान स्कूलों में ऑनलाइन पढ़ाई कराया जा रहा है परन्तु कोरोना काल मे भी सरकार ने स्थानीय अतिथि शिक्षकों को नौकरी से निकाल दिया, जबकि केन्द्र सरकार कि गाइडलाइन के अनुसार किसी को भी काम से नहीं निकालना था। सरकार द्वारा रोजगार छीन लेने से सभी स्थानीय अतिथि शिक्षकों का परिवार अब आर्थिक तंगी से गुजर रहा है ,स्थानीय अतिथि शिक्षकों का कहना है कि रोजगार छीन जाने से वे सभी आर्थिक एवं मानसिक पीड़ा के तनाव से गुजर रहे हैं उन्हें अपने भविष्य की चिंता सता रही है जो कि आज अंधकारमय नजर आ रही है, कोरोना काल होने के कारण भविष्य मे रोजगार का कोई नया साधन न मिलने से सभी स्थानीय अतिथि शिक्षकों की चिंता और भी बढ़ गई हैं।

अतिथि शिक्षकों की हड़ताल

स्थानीय अतिथि शिक्षकों द्वारा आज नगर में साफ सफाई कर सरकार की आँखों मे पड़ी धूल को साफ करना चाहते हैं।और शासन को अपनी मांगों को पूर्ण करने और बेरोजगारी को दूर करने के लिए हड़ताल का रुख अपनाये हुए हैं।

संघ के अध्यक्ष हर्षजीत सिंह ठाकुर ने बताया कि-सोमवार को स्थानीय अतिथि शिक्षकों के द्वारा रैली निकाली जायगी, रैली का समर्थन करने के लिए दंतेवाड़ा जिले के अन्य सभी संगठन भी शामिल होंगे, रैली निकाल कर मुख्यमंत्री के नाम जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौपा जाएगा।