दन्तेवाड़ा@ हड़मा/बंडी दन्तेवाड़ा जिले के दूरस्थ नक्सल प्रभावित आदिवासी गांव पोटाली का रहने वाला है। तंबाखू सेवन से हड़मा को मुँह में केंसर हो गया है। केंसर पीड़ित हड़मा पहुँचवहिन पोटाली जैसे गांव में होने की वजह से और गरीबी के चलते केंसर जैसी बीमारी का इलाज नही करवा पा रहा था।

जिला पंचायत सदस्य नंदलाल पीड़ित से मिलते हुए

● अपनी बीमारी की जानकारी हड़मा ने पूर्व जनपद सदस्य जोगा को दी. जोगा की मदद से हड़मा को दन्तेवाड़ा अस्पताल लाया गया। जहाँ जिला पंचायत सदस्य नंदलाल मुड़ामी से मदद के जोगा ने संपर्क किया। अस्पताल में डॉक्टरों ने हड़मा को मेकाहारा रायपुर इलाज के लिए ले जाने की सलाह दी. प्रशासन से मदद लेकर सरकारी अस्पताल से एम्बुलेंस से पीड़ित को रायपुर भेजा गया।

इधर मदद से हड़मा रायपुर मेकाहारा तो पहुँच गया। पर अब तक उसके इलाज के शासकीय खर्चे का योजनाओं से मिलने वाले लाभ का प्रकरण बनकर तैयार नही हो पाया है। केंसर जैसी बीमारी से लड़ने के लिए हड़मा को सरकारी मदद की अब भी दरकार है।