दंतेवाड़ा-
रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी को झूठे मामले में गिरफ्तार करने एवं गिरफ्तारी के दौरान उनके परिवार के अन्य सदस्यों के साथ भी दुर्व्यवहार किया गया जिसके विरोध में छत्तीसगढ़ श्रमजीवी पत्रकार संघ दंतेवाड़ा जिला इकाई के पत्रकारों ने आज दंतेवाड़ा बस स्टैंड परिसर से कलेक्टर कार्यालय तक पैदल मार्च निकाला।इस दौरान कड़ी धूप में सभी पत्रकारों द्वारा ज़ोर शोर से महाराष्ट्र सरकार को बर्खास्त करने,कलमकारों पर अत्याचार बंद करने एवं अर्णब गोस्वामी को निशर्त रिहा करने की मांग की गई तथा महाराष्ट्र राज्यपाल के नाम कलेक्टर दीपक सोनी को ज्ञापन सौंपा गया।श्रमजीवी पत्रकार संघ के जिलाध्यक्ष आज़ाद सक्सेना ने कहा महाराष्ट्र में जिस तरीके से अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी की गई यह लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर हमला है और उद्धव सरकार द्वारा पत्रकार की आवाज़ को दबाने की कोशिश की जा रही है जो निंदनीय है। वही संरक्षक अभिषेक भदौरिया ने कहा कि अर्नब गोस्वामी के साथ सत्ता का दुरुपयोग महाराष्ट्र सरकार ने किया है। अभिव्यक्ति की आजादी पर यह सीधा हमला है। सच को दबाने के लिये सत्ता बल का जब गलत इस्तेमाल करती है तो माहौल अराजक होने लगता है।

दंतेवाड़ा कलेक्टर को ज्ञापन सौंपते पत्रकार

राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपते वक़्त श्रमजीवी पत्रकार संघ के जिला अध्यक्ष आज़ाद सक्सेना महासचिव जितेंद्र चौधरी संरक्षक अभिषेक भदौरिया वेद प्रकाश संगम जिला उपाध्यक्ष रामकृष्णा बैरागी अनिल भदौरिया ब्लाक अध्यक्ष संजीव दास गोविंद नाग सह सचिव एस एच अजहर रवि कुमार दुर्गा किशोर जाल संदीप दीक्षित लुभम असीम पाल अर्जुन पांडेय कवि सिन्हा धीरेंद्र तिवारी लोमेन निर्मलकर उपस्थित थे।