दंतेवाड़ा@ कटेकल्याण ब्लॉक मुख्यालय के कुछ मजदूर काम की तलाश में पलायन कर रहे थे, जिन्हें जिला पंचायत अध्यक्ष तुलिका कर्मा ने समझाईस देकर वापस उन्हें उनके गांव लौटा दिया गया था। दूसरे दिन जिला पंचायत अध्यक्ष व जिला पंचायत सीईओ ने कटेकल्याण पहुँच सरपंच, सचिव व रोजगार सहायकों की बैठक ली गई थी। बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष द्वारा सरपंच, सचिव, रोजगार सहायकों को धमकी दी गई है ऐसा हमें समाचार पत्रों के माध्यम से पता चला है और इस बैठक को लेकर सरपंच संघ के अध्यक्ष कोपा कुंजाम द्वारा विज्ञप्ति भी जारी की गई है। हम सभी कटेकल्याण ब्लॉक के सरपंच इस बैठक में शामिल थे। बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष तुलिका कर्मा ने हम सभी सरपंचों को पंचायती राज अधिनियम के तहत सरपंचों को हमारे अधिकारों को विस्तार पूर्वक जानकारी दी, जिससे हम सभी सरपंचों को हमारे पंचायत के कार्यछेत्र के बारे में पहली बार हमें विस्तार से जानकारी मिली। चूंकि आज तक हमारे अधिकारों के बारे में हमारे पंचायत सचिवों के द्वारा किसी भी तरह की जानकारी नहीं दी गई थी। जिला पंचायत अध्यक्ष द्वारा दी गई पंचायती राज की जानकारी से हमें अपने कार्यछेत्र में काम करने में, हमारे पंचायत के लोगों को रोजगार देने में, उन्हें मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने में अब बहुत आसानी होगी।

जैसा कि पता चला है कि आलनार सरपंच व अध्यक्ष कोपा कुंजाम के द्वारा भ्रामक एवम राजनीति से प्रेरित बयानबाजी है. तूलिका का व्यवहार सभी सरपंचो से मित्रतापूर्ण ही रहा है। कोपा कुंजाम द्वारा दिये गए बयान की हम निंदा करते हैं।