ब्रिटेन के दैनिक अख़बार ‘द टेलिग्राफ़’ ने शनिवार को रिपोर्ट किया कि भारत के भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी लंदन के वेस्ट एंड इलाक़े के एक 75 करोड़ रुपये के अपार्टमेंट में रह रहे हैं.

इसके बाद इसी अख़बार की वेबसाइट पर नीरव मोदी का एक वीडियो पब्लिश किया गया जिसमें वह गुलाबी शर्ट और एक महंगी जैकेट पहने नज़र आए.

इस बार नीरव मोदी वह नीरव मोदी नहीं थे जो पुरानी तस्वीरों में नज़र आते थे.

इस बार उनकी दाढ़ी बड़ी हुई थी और लंबी मूंछे तनी हुई थीं. पंजाब नेशनल बैंक के साथ 13 हज़ार करोड़ रुपये की बैंक धोखाधड़ी के आरोपी नीरव मोदी से अख़बार के पत्रकार ने कई सवाल पूछे लेकिन उन्होंने इसका ‘नो कमेंट्स’ में जवाब दिया.

अख़बार ने यह भी दावा किया है कि नीरव मोदी ने वेस्ट एंड के सोहो में हीरे का नया कारोबार भी शुरू किया है.

48 साल के नीरव को लेकर अब तक सिर्फ़ कयास लगाए जाते थे कि वह लंदन में हैं लेकिन उनका वीडियो सामने आने के बाद इसकी पुष्टि हो चुकी है. वहीं, बैंक धोखाधड़ी में दूसरी मुख्य आरोपी और नीरव के चाचा मेहुल चौकसी एंटीगुआ और बारबाडोस की नागरिकता ले चुके हैं.

पीएनबी बैंक घोटाले के सामने आने से पहले दोनों ही आरोपी पिछले साल जनवरी में देश छोड़कर भाग गए थे.

वहीं, बैंकों का क़र्ज़ा लेकर फ़रार एक और शख़्स लंदन में हैं. लिकर किंग के नाम से मशहूर रहे उद्योगपति विजय माल्या इस समय लंदन की अदालत में प्रत्यर्पण के ख़िलाफ़ केस लड़ रहे हैं.

लंदन ही क्यों जाते हैं

भारत और पाकिस्तान में भूगोल और संस्कृति के अलावा भी कई समानताएं हैं. इनमें से एक समानता यह भी है कि वहां से भागकर भी लोग लंदन में शरण लेते हैं. पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज़ मुशर्रफ़, पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़, बेनज़ीर भुट्टो के अलावा कई आमो-ख़ास लोग लंदन में रहते और छिपते आए हैं.

भारत के नीरव मोदी, विजय माल्या से लेकर मेहूल चोकसी और संगीतकार नदीम सैफ़ी ने भी जाकर लंदन में शरण ली थी.

आख़िरकार ऐसा क्या है जो भारत और पाकिस्तान के विवादित लोग लंदन में शरण लेते रहे हैं?

भारत के पूर्व विदेश सचिव और लंदन में भारत के उच्चायुक्त रहे सलमान हैदर इस सवाल का जवाब देते हैं. वह कहते हैं, इसकी सबसे बड़ी वजह भारत का ब्रिटेन का उप-निवेश रहना है.

वह कहते हैं, “लोग इसलिए भागकर जाते हैं क्योंकि भारत और ब्रिटेन का उपनिवेश रहा है और इस वजह से वहां की और यहां की क़ानूनी प्रणाली लगभग एक जैसी है. ब्रिटेन और भारत के क़ानूनी जानकार दोनों देशों के क़ानूनों को बहुत अच्छे से जानते हैं जिससे भागकर गए शख़्स को बहुत लाभ होता है.”

क़ानूनी वजहों के अलावा ब्रिटेन में भारत और पाकिस्तान के लोगों का वहां होना भी एक बड़ी वजह है जो कुछ लोग भागकर वहां जाते हैं.

लंदन में बीबीसी संवाददाता नरेश कौशिक कहते हैं कि लंदन में बहुत से भारतवासी रहते हैं जिसके कारण यहां रहना आसान है.

वह कहते हैं, “यहां पर दक्षिण एशियाई खाना आराम से मिल जाता है. लंदन के बहुत सारे इलाक़े ‘मिनी भारत’ जैसे बन गए हैं. बहुत सारे लोगों के पहले से यहां पर ठिकाने हैं. बॉलीवुड के कई बड़े स्टार्स, उद्योगपतियों के यहां घर हैं. पहले से घर होने के कारण भी लंदन में भागकर आने में आसानी होती है.”