दंतेवाड़ा@पंचायत सचिव व रोजगार सहायक अब अपनी नियमितीकरण की मांग को लेकर क्रमिक भूख हड़ताल का रास्ता सरकार के खिलाफ इख्तियार कर लिया है। प्रदेश भर में यह हड़ताल सभी जिलों में पखवाड़े भर से जारी है। मगर अबतक कोई ठोस पहल हड़ताली सचिवो व रोजगार सहायकों को काम मे वापस लाने के लिये नही नजऱ आ रही।

कुआकोंडा ब्लाक में भी इसी क्रमिक भूख हड़ताल पर 2 सचिव व 2 रोजगार सहायक बैठे थे। जो कि निरंतर इनकी हड़ताल इनकी नियमतिकरण की मांग को लेकर जारी रहेगा।

इधर दूसरी तरफ सचिवो की हड़ताल से ग्राम विकास की समस्त ज़मीनी स्तर पर पहुँचने वाली योजनाएं भी ग्रामीण क्षेत्रों में प्रभावित हो गयी है। साथ ही मनरेगा जैसी महत्वपूर्ण योजना पर भी रोजगार सहायकों के हड़ताल में बैठने से प्रभाव पड़ रहा है। देखने वाली बात यह है कि कब तक अपनी मांगों को लेकर सचिव अडिग रहेंगे या फिर कोई वार्ता पहल के बाद हड़ताल समाप्ति पर विचार करेंगे। लेकिन जो भी हो हाल फिलहाल में ग्राम पंचायतों में इस हड़ताल के बाद से सभी कामकाज ठप्प पड़े हैं।