दंतेवाड़ा@ मैलेवाड़ा में अखिल भारतीय हल्बा-हल्बी समाज ने गंगनादई माता मंदिर के पास समाज का शक्ति दिवस मनाया। कार्यक्रम की शुरुवात में हल्बा समाज के झंडे का रोहण माता दंतेश्वरी और गंगनादई माता की जयकारो के बीच मे किया गया। इसके बाद समाज के वरिष्ठजनों और क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों का स्वागत-सत्कार मंच में किया गया।

जिसमें अध्यक्ष डीआर नाग व मुख्य अतिथि तूलिका कर्मा जिला पंचायत अध्यक्ष के साथ विशेष अतिथि में मालती नंदलाल मुड़ामी जिला पंचायत सदस्य, रामूराम नेताम, भाजपा जिलाध्यक्ष चैतराम अटामी सहित क्षेत्रभर के दर्जनों जनप्रतिनिधि और समाज के लोग कार्यक्रम में पहुँचे हुये थे। मंचासीन सभी अतिथियों के सर पर गमछा बांधकर सम्मान किया गया।

दरअसल हल्बा समाज द्वारा 26 दिसंबर को गेंदसिंह की शहादत दिवस को शक्ति दिवस के रूप समाज द्वारा मनाया जाता है।

समाज प्रमुखों ने जानकारी दी कि हल्बा अनुसूचित जनजाति के लोग अलग-अलग हिस्से में विभाजित है। सभी हल्बा समाज को एक सूत्र में बांधने, परम्परा एवं संस्कृति सभी जगह एक समान हो इसलिए बड़े डोंगर में माँ दंतेश्वरी के आंगन में महासम्मेलन किया गया था. जिसमें हल्बा समाज ने एकीकरण पर प्रस्ताव पास किया। माँ दंतेश्वरी को शक्ति स्वरुप मानकर हल्बा समाज 1998 से लेकर अब तक इस दिन को शक्ति दिवस के रूप में मनाता चला आ रहा है।प

मैलेवाड़ा कार्यक्रम में हालांकि विधायक देवती कर्मा मौजूद नही थी, मगर फोन के माध्यम से 10 रुपये का समाज के लिये जिला स्तर पर भवन की स्वीकृति विधायक निधी से दी। समस्त कार्यक्रम सम्पन्न होने पर सभी का आभार व्यक्त कर भोजन पानी करवाकर समाप्त किया गया।