दन्तेवाड़ा@ सुहागिन स्त्रियों के लिए विशेष महत्व का पर्व हरितालिका तीज व्रत हर्षोल्लास के साथ जिले भर में मनाया गया। गणेश चतुर्थी के एक दिन पूर्व हिंदी पंचाग के हिसाब से इस व्रत को सुहागिन महिलाये सुहाग की सलामती के लिए तो कुमारी लड़किया अच्छे सौभाग्य के लिए मनाती है।

देखिये व्रत की झलक

इस व्रत के लिए महिलाये बिना अन्न जल ग्रहण किये निर्जला व्रत के साथ भगवान शिव और माता गौरी की उपासना कर अपने परिवार के कुशल मंगल की कामना करती है। साज-श्रृंगार के समानों की जमकर खरीदारी कर महिलाएं एकत्रित होकर गौरीशंकर की पूजा करती है। गीदम में एकत्रित होकर नई साड़ी व साज श्रृंगार की वस्तुओं को चढ़ाकर व्रत हर्षोल्लास से मनाया गया। इस व्रत की मान्यता छतीसगढ़ व हिन्दुओ में बहुत अधिक है।