दंतेवाड़ा – भारत निर्वाचन आयोग के आदेशों को धता बताते वन विभाग दंतेवाड़ा वन मंडल में पदस्थ उप वनमंडलाधिकारी एम सी देशलहरा का राज्य शासन ने विगत 23 अगस्त को स्थानांतरण आदेश जारी कर दिया था जिसके बाद 25 अगस्त जो दंतेवाड़ा में आचार संहिता लागू होने से भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार अचार संहिता के दौरान नियुक्ति , स्थानांतरण , पदस्थापना ,भारमुक्ति से संबंधित कार्यवाही पर बिना अनुमति प्रतिबंधित है ।

जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा श्री देशलहरा को पदभार मुक्त नही कर दंतेवाड़ा विधानसभा उपचुनाव में जोनल अधिकारी का दायित्व सौंपा है । इधर निर्वाचन आयोग के सभी निर्देशो को धता बताते वन विभाग ने आचार संहिता का खुला उलंघन कर मोहन सिंह नायक की पदस्थापना 31 अगस्त को कर दी गई । आचार संहिता के दौरान किया गया अनावश्यक पदस्थापना पर कई सवाल खड़े हो रहे है । इधर वन मंडालिधिकारी इसकी जानकारी नही होने की बात कह रहे है ।
रमेश जांगड़े , डीएफओ दंतेवाड़ा – इसकी पूरी सूचना मुझे नही है मैं अभी विभागीय ट्रेनिंग के चलते बाहर हूँ आचार संहिता के दौरान निर्वाचन आयोग के अनुमति के बिना पदस्थापना नही हो सकती , अगर ऐसा हुआ है तो गलत है इस मामले में निर्वाचन आयोग कार्यवाही कर सकते है ।