बीजापुर @:-एनएच 63 से लगे नैमेड से 2 किलोमीटर दूर कोडेपाल सड़क पर नक्सलियों ने आईईडी लगाकर ब्लास्ट किया था जिसमे बोलेरो वाहन के परकच्छे उड़े थे। ब्लास्ट में गर्भवती महिला समेत 9 ग्रामीण घायल हुए थे। अब इस मामले में नक्सलियों ने प्रेस नोट के जरिये माफी मंगा है। मीडिया में खबरें आने के बाद दंतेवाड़ा एसपी और डीआईजी रतनलाल डाँगी ने भी अपनी तीखी प्रतिक्रियाएं दी हैं।

क्या कहा बीजापुर इस पी गोवेर्धन ठाकुर ने

नक्सली माफीनामे पर बीजापुर एसपी गोवेर्धन ठाकुर ने इसे माओवादियों की घड़ियाली आँशु बताया है। एसपी ने नक्सलियों पर पलटवार करते कहा कि बस्तर में निर्दोष आदिवासियों की हत्याओं पर माफी कौन मांगेगा। निर्दोष ग्रामीणों पर नक्सली कहर टूटता है और एक प्रेस जारी ग्रामीणों के जख्मो पर मरहम लगाने की नाकाम कोशिश कर रहे हैं। आगे एस पी ने कहा कि माफी मांगने से समस्या का समाधान नही है। जिनलोगों को आर्थिक,मानसिक क्षति हुई है माफी मांगने से क्या उसकी पूर्ति हो जाएगी।जिन निर्दोषों को नक्सलियों ने मारा है क्या उनके लिए भी वो माफी मांगेंगे। क्या इस निर्ममता हत्याओं की वो जिम्मेदारी लेते हैं। यहां के पढ़े लिखे प्रतिष्टित लोगों की नक्सलियों निर्ममता से हत्या की है। नक्सली इस इलाके को आधुनिकता से कोषों दूर ले गए हैं। यहां के लिए मार्गदर्शकों को मारने का काम नक्सलियों ने किया है। नक्सलियों ने पहुंच विहीन दुर्गम क्षेत्र है वहां के विकास को भी अवरोध करके रखा है।