दन्तेवाड़ा-इस वर्ष खरीफ दन्तेवाड़ा में कृषि ऋण और बीज वितरण के लिये अंदरूनी ग्रामीण इलाकों में कृषि ऋण शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। शिविरों में किसानों को कृषि ऋण प्रदान करने के लिये किसान क्रेडिट कार्ड जारी करने सहित बीज प्रदाय किया जायेगा। वहीं किसानों को बीजोपचार, बुआई, कीट व्याधि नियंत्रण इत्यादि के बारे में  समसामयिक कृषि सलाह दी जायेगी। 

खरीफ फसल

पीआर बघेल (उपसंचालक कृषि दन्तेवाड़ा)

इस बारे में  बताया कि जिले में खरीफ सीजन के लिये किसानों को कृषि ऋण सहित बीज वितरण बाटने के लिए  कलेक्टर  सर के मार्गदर्शन में कृषि ऋण शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। 

◆इस दिन यहां रहेगा मेला
जिसके अंतर्गत 26 मई को गीदम, 27 मई को पोन्दुम,भांसी, फरसपाल एवं कोरीरास,28 मई को टेकनार, छिंदनार, केशापुर, टिकनपाल आवर समलूर, 29 मई को मोखपाल,30 मई को मेटापाल, दन्तेवाड़ा, समेली एवं बोदली और 31 मई को कटेकल्याण एवं बड़ेगोडरे में कृषि ऋण शिविर आयोजित किये जायेंगे। उक्त कृषि ऋण शिविरों में कृषि और उद्यानिकी विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों सहित  केंद्रीय सहकारी बैंक, आदिम जाति सेवा सहकारी समिति तथा बैंकों के अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहेंगे। इस दौरान किसानों को कृषि ऋण के लिये किसान क्रेडिट कार्ड प्रदाय सहित बीज वितरण किया जायेगा। इसके साथ ही कृषि एवं उद्यानिकी विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों द्वारा किसानों को समसामयिक कृषि परामर्श प्रदान किया जायेगा। उपसंचालक कृषि श्री बघेल ने बताया कि जिले में खरीफ सीजन के लिये बीज भंडारण किया जा रहा है। जिसके तहत आदिम जाति सेवा सहकारी समितियों (लैम्पस सोसायटी) में अब तक 1138 किं्वटल धान बीज भंडारित किया जा चुका है। जिले के दन्तेवाड़ा, भांसी, बचेली, नकुलनार, पालनार, केशापुर, कटेकल्याण, फुंडरी, मोखपाल, गीदम, समलूर, बड़ेतुमनार, बारसूर, छिंदनार, फरसपाल, मेटापाल, बड़ेगोडरे,अरनपुर, सूरनार तथा भूसारास लैम्पस समितियों में एमटीयू 1001, एमटीयू 1010, स्वर्णा, दुर्गेश्वरी, पीकेव्ही एचएमटी, डीआरआर-42, राजेश्वरी, चंद्रहासिनी, माहेश्वरी, कर्मामासुरी सहित सुंगधित किस्मों के धान बीज का भंडारण किया गया है। किसान उक्त लैम्पस समितियों में सम्पर्क कर आवश्यक बीज की खरीदी किसान क्रेडिट कार्ड अथवा नकद राशि के माध्यम से कर सकते हैं।