दर्शन कीजिये देवी दंतेश्वरी माँ के

दन्तेवाड़ा@ शारदीय नवरात्र आते ही बस्तर की आराध्य देवी माँ दंतेश्वरी की धरा दन्तेवाड़ा में देवी के दर्शनों के लिए दर्शनार्थियों का तांता पहले ही दिन से उमड़ने लगा. देवी दंतेश्वरी मंदिर को पूरी तरह से सजाया गया है.नवरात्रि इस बार 7 अक्टूबर तक चलेगी। दंतेश्वरी देवी की ख्याति भारत वर्ष भर में फैली हुई है। उनके दर्शनों के लिए भक्त दूर-दराज से अपनी अपनी श्रीधा भक्ति से पहुँचते हैं. नवरात्रि में देवी के नौ रूपो की पूजा अर्चना विशेष महत्व से होती है.शैलीपुत्री,ब्रह्मचारिणी,चंद्रघन्टा,कूष्माण्डा,स्कंदमाता,कात्यानी,कालरात्रि,महागौरी, और सिद्धिदात्री के रूपो में ये पूजा होती है. दंतेश्वरी देवी के भक्त पहले ही दिन से हजारो की संख्या में दर्शनों पहुँचे थे। मन्दिर परिसर में सुबह से ही बड़ी लाइन लगी थी।

नवरात्र के लिए प्रशासन ने भी जगह जगह टैंट पंडाल लगाकर रुकने ठहरने की व्यवस्था की है। साथ ही आस्था से लोगो ने अलग से भी दन्तेवाड़ा पहुँचने वाले सभी रास्तो में पदयात्रियों के लिए व्यवस्था अपने अपने स्तर से कर रहे है।

नवरात्र आते ही सहस्त्र ज्योति कलश देवी की श्रीधा में जलने लगे है। नवरात्र में देवी दंतेश्वरी के भक्त भारत के कोने कोने से ज्योत कलश की स्थापना अपनी मनोकामना के लिए जलवाते है। ५२ शक्तिपीठो में दंतेश्वरी देवी की मान्यता भक्तों में है। आने वाले नौ दिनों तक दंतेश्वरी मंदिर में दर्शनों को भक्तों को संख्या दिनों दिन बढ़ते ही जाएगी।