बीजापुर @:- माओवादियों की दहसत का खेल बस्तर में जारी है. यहां बीजापुर जिले के कई इलाकों में माओवादीयों ने बेनर, पोस्टर लगाकर दहसत का माहौल बना रहे हैं। एनएच 63 नैमेड से कुटरू सड़क पर माओवादियों ने बीती रात 8 किमी दूर तक सड़क पर बेनर, पोस्टर टांगकर कम्युनिस्ट पार्टी की 15 वीं जयंती जोश से मनाने की अपील की। आज तड़के गुदमा और कुटरू की जिलाबल और बीडीएस की टीम ने बेनर, पोस्टर हटाये और सड़क के बीचों बीच बनी सफेद पट्टी पर माओवादियों की लाल रंग से लिखे संदेश को काली स्याही से मिटाया है।
जिला मुख्यालय से करीब 25 किमी दुरी पर गुदमा से कुटरू सड़क पर आज दहसत का माहौल था. गुदमा से मासेगुण्डा नाला तक करीब 8 किलोमीटर की सड़क आज माओवादी संदेश और अपीलों से पटी रहीं. कम्युनिस्ट पार्टी की 15वी वर्षगांठ जोश खरोश से मनाने पश्चिम बस्तर डिविजनल कमेटी (माओवाद) ने जनता से अपील की हैं।
मुख्य सड़क पर बनी सफेद पट्टियों को भी यहां माओवादियों ने लाल रंग के संदेशों से रंग डाला. डामरीकृत मुख्यसड़क पर सफेद पेण्ट से संदेश लिखे गये थे.पहली बार है कि माओवादियों ने इस सड़क पर इतनी दूरी तक बेनर, पोस्टर और सड़क पर माओवादी संदेश और अपील लिखी गई है. आज सुबह गुदमा और कुटरू की जिलाबल और बीडीएस की टीम ने घंटों की मेहनत के बाद लाल रंग को सफेद और सफेद संदेशों को काले पेण्ट से मिटाया और आवागमन शुरू किया।
गुदमा और कुटरू थाना की संयुक्त टीम ने सड़क को दुबारा आवागमन के लिए सुचारू बनाया. जिलाबल और बीडीएस की टीम ने माओवादी षड्यंत्र की आशंका से सड़क किनारे मेटल डिटेक्टर की मद्दत से सर्चिंग कर बेनर, पोस्टर हटाया जिसके बाद इस सड़क पर आवागमन शुरू हो पाया है।