◆लापरवाही बरतने वालो पर जल्द होगी कार्यवाही

दंतेवाड़ा। कन्या शिक्षा परिसर में 11वीं की गर्भवती छात्रा के प्रसव और शिशु के मृत्यु के मामले में दंतेवाड़ा विधायक देवती कर्मा ने कहा है कि यह मामला कन्या शिक्षा परिसर की लचर व्यवस्था को दर्शाता है। प्रशासन सिर्फ आश्रम अधिक्षिका को निलंबित कर अपना पल्ला झाड़ रहा है। आश्रम अधिक्षिका की इस गंभीर गलती के कारण अब कोई भी माँ-बाप अपने बच्चों को पढ़ने के लिए आश्रम शाला में नहीं भेजेंगे। इस मामले ने सभी माँ-बाप को सोचने के लिए मजबूर कर दिया जो बेफिक्र होकर अपने बच्चों को आश्रम अधिक्षिका के भरोसे पढ़ने के लिए आश्रम में दाखिला करवाते थे। विधायक ने आगे कहा कि हर महीने चिरायु की टीम आश्रम में हेल्थ कैंम्प लगाती थी, फिर छात्रा के गर्भवती होने की जानकारी कैसे किसी को नहीं लगी। चिरायु की टीम ने 28.11.2019 को सभी छात्रों का रूटीन चेकअप किया था और 17 जनवरी को यह मामला सामने आया। प्रशासन के तरफ से बनाई गई जांच कमेटी भी खानापूर्ति ही कर रही है। मामला प्रकाश में आये हुए 4 दिन हो चुके हैं, मगर अब तक सिर्फ आश्रम अधिक्षिका को निलंबित कर मामले को दबाने का प्रयास किया जा रहा है। इस तरह की लापरवाही बिल्कुल बर्दाश्त नहीं कि जाएगी। श्रीमती कर्मा ने कहा कि इस मामले को लेकर कलेक्टर से चर्चा करेंगी और जो भी इस दोषी पाए जाएंगे उन पर कठोर कार्यवाही की जाएगी।

*

Leave a Reply

Your email address will not be published.

The Aware News
%d bloggers like this: