◆बीजेपी के दिग्गजों ने चुनावी मोर्चा खोला
◆प्रेसवार्ता कर कांग्रेस की विफलता गिनाई
दन्तेवाड़ा@ उपचुनाव की तारीख घोषणा होते ही पहले कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष मोहन मरकाम ने जिले में 5 दिन डेरा डाल रखा तो वही जबाब में आज भाजपा के बड़े नेताओ का अमला आज दन्तेवाड़ा पहुँचकर कार्यकर्ताओ से उपचुनाव को लेकर विचार मंथन कर चुनावी रणनीति को लेकर कार्यकर्ताओ में ऊर्जा संचार किया। अब तक भाजपा के कंडीडेट की विधीवत घोषणा नही हुई है। भाजपा कार्यलय में शिवरतन शर्मा, पूर्व मंत्री केदार कश्यप, महेश गागड़ा, व पूर्व सांसद दिनेश कश्यप के साथ पहुँचे हुये थे।

बीजेपी कार्यलय में मीडिया से प्रेसवार्ता के दौरान शिवरतन शर्मा ने कहा कि 8 महीने में भूपेश सरकार विफल रही। जनघोषणा पत्र पर किये किसी भी वादे को निभा नही पाई। कर्जमाफी की बात करने वाली भूपेश सरकार 25 प्रतिशत किसानों का भी कर्ज माफ नही की। गंगाजल उठाकर झूठी सौंगन्ध खाकर कर्जमाफी का जनता से दावा भी खोखला निकला। जिसका रिजल्ट कांग्रेस को लोकसभा में मिला महज 2 सीटों में प्रदेश सिमट गई। शर्मा ने नरवा-घुरवा बाड़ी योजना को विफल बताते हुए गोठनों के नाम पर फिजूलखर्ची और निष्फल काम बताया।

बीजेपी संगठित होकर चुनाव लड़ेगी आने वाले 1 सितम्बर तक प्रत्याशी की घोषणा हो जाएगी। कई दावेदारों के नाम आये पार्टी कैडर जिसका नाम तय करेगी। उसे ही मैदान में उतारा जायेगा। इस बार बीजेपी पिछले चुनाव में मिली जीत से 4 गुना अधिक मतों को लेकर दन्तेवाड़ा में कमल का परचम लहरायेगी। बीजेपी कार्यलय में बीजेपी पार्टी के संगठन के और जिले पदाधिकारियों, युवामोर्चा के सदस्यों के साथ हजारो कार्यकर्ता मौजूद थे।