दंतेवाड़ा/गीदम@आरती सिंह की रिपोर्ट
विकासखंड गीदम के नये नवेले पदस्थ बीईओ पर साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने का आरोप लगा है। दरअसल मामला यह है कि गीदम के खण्ड शिक्षा अधिकारी मोहम्मद रफीक खान से जुड़ा है। जिन्होंने गीदम में पदस्थापना के बाद पहुँचते ही अपने चेम्बर को लाईट हरे रंग से रंगरोगन करवा लिया है।
रंग रोगन के बाद से पिछले एक सप्ताह से इस विषय की चर्चा नगर में लगातार हो रही हैं। क्योकि आफिसों में चयनित रंग से इतर हटकर इसे धर्म के रंग से जोड़कर देखा जाने लगा। इस विषय को लेकर राष्ट्रीय बजरंग दल, किसान परिषद, व विद्यार्थी परिषद ने अपना विरोध दर्ज कराते हुये आक्रोश जताया हैं। आज राष्ट्रीय बजरंग दल व किसान परिषद के कार्यकर्ता खण्ड शिक्षा अधिकारी कार्यालय पहुचे और रंगरोगन किये हुये लाईट हरे रंग को बदलने के लिये खण्ड शिक्षा अधिकारी को कहा। कड़मपाल के उपसरपंच, किसान परिषद के जिला सचिव व राष्ट्रीय बजरंग दल के सक्रिय कार्यकर्ता राजू कडती ने आरोप लगाया कि गीदम ब्लॉक के नवपदस्थ शिक्षा अधिकारी शिक्षा के क्षेत्र में इतने बड़े पद में पदस्थ होने के पश्चात भी लोगो की भावनाओं को आहत करते हुये शासकीय भवन के एक कमरे को अपने हिसाब से रंगरोगन करवा लिया हैं जो कि शासन के नियम के विरुद्ध हैं।

एक शासकीय कर्मचारी को इस प्रकार के शासन के नियम के विरुद्ध कार्य नही करना चाहिये। इस संबंध में खण्ड शिक्षा अधिकारी मोहम्मद रफीक खान का कहना है कि उन्होंने अपने चेम्बर की साफ – सफाई और रंगरोगन करवाया हैं। और रंगरोगन के समय मैं अवकाश में था लेकिन यह रंग मेरी मंशा के अनुरूप ही था। लेकिन शासकीय कार्यालय में इस प्रकार दुसरे रंग का उपयोग नही करना चाहिये इसके संबंध में मुझे जानकारी नही थी। लोगो को यह गलत लग रहा है तो इसे शीघ्र बदल दिया जायेगा।

वही किसान परिषद, राष्ट्रीय बजरंग दल व विद्यार्थी परिषद ने कहा है कि यदि इस रंगरोगन को एक सप्ताह में नही बदला गया तो उग्र आंदोलन किया जायेगा। एक सप्ताह पूर्व ही जिला पंचायत, नगरीय निकाय शिक्षक संघ व ब्लॉक शिक्षक संघ गीदम ने खण्ड़ शिक्षा अधिकारी गीदम की कार्यप्रणाली को लेकर विरोध जताया था तथा कार्यालय का घेराव भी किया था।