दन्तेवाड़ा-बारसूर पल्ली होते हुए नारायनपुर जाने वाली सड़क पर निर्माण काम मे रोड़ा पहुँचने के लिए एक बार फिर से नक्सलियों ने पूसपाल और बोदली के बीच 5 किलो वजनी बम जवानों को निशाना बनाने के लिए सड़क पर छिपा रखा था। सड़क निर्माण का जिम्मा सीआरपीएफ के जवानों पर सीआरपीएफ195 बटालियन के जवानों ने सड़क पर आरोपी पार्टी लगाकर सर्चिंग कर नक्सलियों के लगाये आईडी बम को बरामद कर नष्ट कर दिया।
जगह-,जगह दर्जनों आईईडी बम इस सड़क पर लगातार बरामद हो रहे है, जिसे जवान लगातार जवान नक्सलियों की साजिश फैल करते निर्माण काम आगे बढ़ा रहे है

शनिवार को सहायक कमाण्डेन्ट आशीष मिश्रा के नेतृत्व में टीम सड़क निर्माण की सुरक्षा में आस पास के क्षेत्र की सर्चिंग कर डीमाईनिंग करते हुए आगे बढ़ रही थी इसी सर्चिंग में पेड़ के नीचे स्निफर डॉग की मदद से 5 किलो वजनी आईईडी बरामद हुई। बम को नक्सलियों ने प्रेशर कुकर पर लगा रखा था। जिसे बीडीएस टीम की मदद से बरामद कर नष्ट कर दिया गया। इस तरह से जवानों की सूझबूझ से बड़ा हादसा टल गया।
पुल और प्रेशर मैकेनिज्म का दिखा इस्तेमाल करें

जवानों को फंसाने के लिए नक्सलियों ने लगाये गये बम को दो तरह से लगाया था, ताकि जवानों को बड़ा नुकसान पहुचाया जा सके। जिस जगह पर आईडी बम लगी थी कुछ दूरी पर काले रंग के धागे से ट्रिप वायर बनाने के साथ पत्तो और पथ्थरों के बीच छिपाकर प्रेशर स्वीच रख दिया था। जिससे धागे में पैर टच होते ही बम सक्रिय होकर धमाका हो जाता।
इस सड़क पर इतने आईडी नक्सलियों ने प्लांट किये है कि बोदली से घोटिया तक के ग्रामीण इस सड़क का इस्तेमाल नही करते है। पगडंडियों से ही वे आना जाना करते हसि।जुलाई महीने में भी इसी मार्ग में 1 जवान की शहादत हो चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

The Aware News
%d bloggers like this: