दंतेवाड़ा@ नकुलनार प्राचीन मनसुखेश्वर बाबा के द्वार(शिव मंदिर) प्रांगण में गायत्री परिवार द्वारा आत्मीय मेल मिलाप के लिए ग्रामजनों के साथ वार्तालाप संगोष्ठी कर विचारो का आदान प्रदान किया गया। शांति कुंज हरिद्वार से पधारे शैल जी द्वारा आत्मीयता विस्तार हेतु नकुलनार के मंदिर प्रांगण में मौजूद वरिष्ठजनों और युवाओं के साथ सुख दुःख व्यक्त किया गया.

नकुलनार शिवमंदिर में गायत्री परिवार द्वारा संगोष्ठी आयोजित

दरअसल गायत्री परिवार सनातन धर्म संस्कृति और वेद ऋषियों को परम्पराओ को आचार्य पंडित श्रीराम शर्मा द्वारा स्थापित युग निर्माण की बड़ी शाखा है गायत्री परिवार। नकुलनार शिव मंदिर में भी पहुँचे वक्ताओं ने गायत्री मंत्र के उच्चारण करवाकर गायत्री परिवार जीवन जीने की कला हैं जहाँ संस्कृति के आदर्श सिधान्तो के साथ समाज राष्ट्र युग निर्माण करना ही उद्देश्य है यह बताया गया।

महत्वपूर्ण इस संगोष्ठी में नकुलनार के सभी वरिष्ठजनों से गायत्री परिवार ने मेल मिलाप और परिचय भी लिया. साथ ही वसुधैवकुटुम्बकम की मान्यता के आदर्श विचारो को साझा किया गया. गायत्री परिवार की तरफ से मोहित कुमार साहू, अमरनाथ व गुरुबन्धू सिन्हा, श्री डीआर बघेल के साथ गायत्री परिवार के सहदेव जी मौजूद थे।