दंतेवाड़ा@ सीआरपीएफ अधिकारी विनोद टण्डन ने छतीसगढ़ राज्य में नक्सलवाद के उन्मूलन में प्रशासन कि भूमिका का विश्लेषण (सुकमा जिले के संदर्भ में) पीएचडी करने में सफलता हासिल की। विनोद टण्डन 2004 बैच में सीधी भर्ती में सीआरपीएफ में सहायक कमांडेंट है जो कि वतर्मान में ओड़ीसा राज्य में अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

विनोद टण्डन 2005 के बाद से उन्होंने देश अलग अलग उग्रवाद, आतंकवाद जैसे मणिपुर, त्रिपुरा, ओड़ीसा,असम,जम्बू कश्मीर,जैसी जगहों में अपनी सेवाएं दी। श्री टण्डन अपनी नौकरी के 16 वर्षो में 9 वर्ष छतीसगढ़ के घोर नक्सल प्रभावित हिस्से बस्तर में अपनी सेवाएं दी। नक्सलवाद से घिरे क्षेत्रो में लंबा कार्यानुभव होने की वजह से ही नक्सलवाद जैसे ज्वलंत मुद्दे को अध्यन के लिए चुना जिससे देश मे इस भयानक समस्या को दूर करने के कई विचार सामने आये।