दन्तेवाड़ा- अरनपुर थानाक्षेत्र के नीलावाया गांव में एक बार फिर से गोपनीय सैनिक के भाई की नक्सलियों ने हत्या कर दी गयी है। जहाँ एक तरफ पूरा देश कोरोना वायरस के संकट से जूझ रहा है तो वही दूसरी तरफ नक्सली हिंसा करने से गुरेज नही कर रहे है। दरअसल परसो देर रात घर से अगवा कर कल सुबह हिड़मा कवासी की हत्या कर शव को नीलवाया गांव के नजदीक फेंक दिया गया, गोपनीय सैनिक के भाई की हत्या हुई है इसलिए इस हत्या के पीछे नक्सलियों का हाथ होना स्वाभाविक है. क्योकि हत्या के बाद से गांव वाले और परिजनों ने इसकी रिपोर्ट थाने तक भी नही कराई है। जिसे नक्सलियों ने मारा है उस व्यक्ति का नाम हिड़मा कवासी है,

क्योकि उसका भाई बताया जा रहा है कि गोपनीय तरीके से पुलिस से जुड़ा है।इधर दन्तेवाड़ा एसपी ने घटना की पुष्टि करते हुए जानकारी दी कि कुछ दिन पहले अमित कवासी की शिकायत लेकर दन्तेवाड़ा की महिला नेत्री 10 हजार की लूट की शिकायत लेकर पहुँचे थे. इससे पहले गांव में भी ये लोग गये थे. गोपनीय सैनिक के भाई की हत्या करके नक्सली अपनी बौखलाहट साबित कर रहे है. साथ ही जो लोग अपने आप को समाजसेवी बताते है वे इस घटना पर कुछ नही बोलेंगे अब। जानकारी के लिए यह भी बता दे कि अभी हाल में ही कुछ महीने पहले मोहन भास्कर की भी त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के पहले हत्या इसी इलाके में की गई थी यह दूसरी घटना फिर इसी इलाके कर दी गयी, जिससे डर और दहशत का माहौल इलाके में बन गया हैं।