बीजापुर @ भोपालपटनम आदिम सेवा सहकारिता समिति ( लैम्प्स) इन दिनों फर्जी लोन और प्रबंधक की मनमानी मामले में सुर्खियों में है। एक के बाद एक आरोप प्रबंधक मुदस्सर खान पर लग रहे हैं। भोपालपटनम इलाके में चल रहे फर्जी पट्टे और उन फर्जी पट्टों पर फर्जी लोन के मामले में कल पूर्व वनमंत्री महेश गागड़ा ने कांग्रेस की मिलीभगत बताया था। आज लेम्प्स संचालक मंडल उपाध्यक्ष प्रेम कुमार गुज्ज़ा ने प्रबंधक पर मनमानी करने का आरोप लगाया है।

सुने लेखापाल-प्रबंधक पर आरोप,

संचालक मंडल उपाध्यक्ष का आरोप है कि जिस पट्टे में आलू अदरक के नाम पर कर्ज लिया जा रहा है उसमें धान की बिक्री भी सांठगांठ करके की जा रही है। वर्ष 2018-19 में धान खरीदी के संबंध में भी प्रबंधक ने संचालक मंडल से कोई चर्चा नही की और न ही बैठक बुलाया गया। रूद्रारम और पटनम में बिना बैठक और चर्चा के ही धान खरीदी की गई है। साथ ही संविदा नियुक्ति पर प्रबंधक नियुक्त है लेकिन तारलागुडा सहित 6 प्रभार मुदस्सर खान ने अपने यहां रखे हुए हैं जिसकी आड़ में मनमानी की जा रही है।
  1. मुदस्सर खान का मूल पद लेखपाल है लेकिन खरीदी प्रभारी, प्रभारी लेम्प्स मैनेजर,पद पर भी जबरन बने हुए हैं। साथ ही तारलागुडा लेम्प्स में भी लेखापाल, प्रभारी लेम्प्स प्रभारी और खरीदी प्रभारी के पद पर बने हुए हैं। भोपालपटनम और तारलागुडा के लेम्प्स में एक संविदा कर्मचारी 6 पदों का कार्यभार संभाल रहे हैं।
प्रेम गुज्ज़ा ने बताया कि सहायक पंजीयक को मुदस्सर खान पर कार्यवाही के लिए आवेदन देकर जांच की मांग की गई है लेकिन कोई कार्यवाही अभी तक नही हुई है। मुदस्सर खान अपने पूरे परिवार और रिश्तेदारों के नाम से फर्जी लोन लेकर ठिकाने लगा देता है। तमाम सबूतों के साथ बीजापुर सहायक पंजीयक को भ्रष्ट कर्मचारी पर कार्यवाही के लिए लिखित आवेदन दिया गया था।