बीजापुर @:- 48 घंटे की मशक्कत के बाद गोताखोरों ने इंद्रावती नदी में बहे 2 महिलाओं के शवों को बांगोली घाट से ढूंढ लिया गया है। तीन दिनों तक चले रेस्क्यू आपरेशन में इंद्रावती नदी के उस इलाके के बांगोली, सतवा, धर्मा, मंगलनार और मार्कापाल घाटों में अधिकारियों का रेस्क्यू आपरेशन का फोकस था। आखिरकार आज सुबह टिंगरी और गल्ले के शव को बरामद किया गया है डॉक्टरों से पीएम कराकर शवों को परिनानो को सौंप दिया गया है।

सतवा घाट बीते सालों से जिंदगियां लील रही है। साल दर साल यहां लकड़ी की डोंगी पलटने से मौतों का सिलसिला बढ़ता जा रहा है। 2018 में इंद्रवती की तेज धार में डोंगी पलटने से 3 लोगों की मौत हो गई थी जिसमे एक मात्र शव ही मिल पाया था। दो दिन पहले भी एक डोंगी सतवा घाट में पलट गई थी बेलनार और पोनोडवाया से तुमनार हाट-बाजार में शामिल होंगे चालक सहित 8 लोग सतवा घाट से नेलसनार की ओर आ रहे थे जहां बीच नदी में डोंगी अनियंत्रित होकर पलट गई थी एक साल के मासूम रंजीत को शामू नाम की महिला ने बचा लिया लेकिन रंजीत की माँ तेज बहाव में लहरों में अदृश्य हो गई थी। लापता 2 महिलाओं टिंगरी और गल्ले की खोजबीन के लिए रेस्क्यू आपरेशन शुरू किया गया।

प्रशासनिक अमले के साथ कांग्रेसी नेता सुकदेव नाग, सहदेव नेगी, आईटी सेल अध्यक्ष मोहित चौहान सहित कई जनप्रतिनिधि भी लगातार तीन दिनों तक रेस्क्यू आपरेशन में डटे रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

The Aware News
%d bloggers like this: