दंतेवाड़ा- दंतेवाड़ा जिले के बदइंतिज़ाम व्यवस्था चरम पर है. व्यवस्थाओं के नाम पर अस्पताल प्रबंधन आम ग्रामीणों को ठेंगा दिखाने से बाज़ नही आता हैं, दरअसल शनिवार शाम कारली साहू ढाबा के पास स्कार्पियो और ट्रक की जबरदस्त भिंड़त हो गयी थी.जिसमें स्कार्पियो सवार 01 मृत और 02 लोग गंभीर घायल हुये थे. मृतक संजय कुंजाम और घायल हरेंद्र मरकाम और पुरेन्द्र नेताम को दंतेवाड़ा अस्पताल लाया गया.

◆मृतक संजय कुंजाम के शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल में रखा गया, लेकिन दंतेवाड़ा अस्पताल प्रबंधन के पास मर्चुरी में रखे सभी 6 कूलर खराब थे, जिसके चलते मृतक के शव को खुले में रखना पड़ा इतने बड़े जिला अस्पताल में मृत शव को रखने के लिए एक ढंग का कूलर भी नही है। इससे बड़ी लापरवाही और क्या हो सकती है. दंतेवाड़ा जिले में लगातार अस्पताल विभाग द्वारा डीएमएफ मद से सालभर में करोड़ो रुपयों से खरीदी की जाती है। मगर उन सामानों के दाम अधिक और सामान स्तरहीन अक्सर निकलते है।

◆कूलर खराब होने की खबर सुनकर अस्पताल प्रबंधन ने आनन फानन में मेकेनिक को बुलाया जरूर पर कूलर बने नही, इधर सिविल सर्जन संजय बघेल ने बताया कि वायरिंग की गड़बड़ी की वजह से खराबी बता रहे हैं, हम जल्द बनवाने का प्रयास कर रहे हैं।