दन्तेवाड़ा@दन्तेवाड़ा से इस वक्त बड़ी खबर आ रही है। जिला पंचायत उपाध्यक्ष मनीष सुराना का निर्वाचन शून्य घोषित कर दिया गया है। जिसके बाद से वे पद में नही रह सकेंगे।

यह कार्यवाही पंचयर एवं ग्रामीण विकास संचालनय द्वारा की गई है। बताया जा रहा है कि चुनावी प्रक्रिया में मनीष सुराना गीदम के नगरीय और ग्रामीण दोनों क्षेत्रो की मतदाता सूची में थे। और धोखाधड़ी से जिला पंचायत का चुनाव लड़कर जीत दर्ज की थी।
इसी जीत के खिलाफ गीदम क्षेत्र के ही 6 लोगो ने न्यालय में परिवाद दाखिल किया था।

जिसके बाद ही यह कार्यवाही की गई। जानकारी की पुष्टी के लिए हमने मनीष सुराना का भी पक्ष लिया तो उन्होंने साफ तौर पर इस तरह के आदेश की जानकारी से इनकार कर दिया। पर परिवाद दाखिल की बात स्वीकार करते हुए कहा कि शायद सरकार बदल गयी तो ये कार्यवाही हुई हो। मैं भी न्यालय का दरवाजा खटखटाऊगा।