दंतेवाड़ा@ दंतेवाड़ा जिले के किरंदुल नगर में निजी स्कूल प्रकाश विद्यालय की स्कूल बस संचालक की बड़ी लापरवाही निकलकर सामने आई है, और अब इस लापरवाही को स्कूल प्रबंधन लीपापोती करने में जुट गया है.जानकारी के लिये बता दे कि प्रकाश विद्यालय की बस क्रमांक सीजी18टी 5001 प्रकाश विद्यालय से जब स्कूली छात्रों को लेकर किरंदुल अंबेडकर चौक के पास पहुँची, तभी बस में बैठे दो छात्र चलती बस के इमरजेंसी दरवाजे से बाहर फेंका गये. इधर दोनों छात्रों के चलती बस से बाहर गिरने के बाद भी बस चालक बस को लेकर किलोमीटर दूर तक बस स्टैंड की तरफ बढ़ गया.

प्रकाश विद्यालय किरन्दुल की निजी बस से हादसा

इधर स्कूली बस से नीचे गिरे दोनों घायल छात्रों को किरंदुल के स्थानीय पत्रकार राजेंद्र सक्सेना ने पहले घायल छात्रों को अस्पताल पहुँचाया और निजी स्कूल बस की शिकायत किरंदुल थाने में दर्ज करवा दी.

सुप्रीम कोर्ट के गाईड लाइन की धज्जियां उड़ाते निजी स्कूल:

निजी स्कूलों में बच्चों के परिजनों से हजारों रुपये सुविधा के नाम पर वसूलने संस्था द्वारा बस के साथ कोई भी संस्था की तरफ से स्टाफ नही था.

जिस प्रकाश विद्यालय की चलती बस में हादसा हुआ उस बस में सीसीटीवी कैमरे भी नही लगे थे।

बस दस साल पुरानी है जिसकी खिड़कियां, जाली, और बस कंडक्टर रहना अनिवार्य है।

इधर किरन्दुल टीआई जितेंद्र ताम्रकार ने बताया कि एक टर्निग के पास इमरजेंसी एक्ज़िट डोर से 2 बच्चे चलती बस से बाहर जा गिरे बस संचालक के विरुद्ध धारा279 और337 के तहत मामला दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

The Aware News
%d bloggers like this: