अवार्ड पाने वेटनरी विभाग ने लिया बेजुबानों का सहारा

फर्जी मुनाफा दिखाकर सीएम से लिया प्रशस्ति पत्र

बीते साल सीएम के हाथों लिया सम्‍मान, शासन की आंखों में झोंका धूल

टेकनार गौ संवर्धन केंद्र में डॉ. कुशवाह का कारनामा, दुग्‍ध उत्‍पादों से दिखाया झूठा मुनाफा

दंतेवाड़ा। पशुधन विकास विभाग के उप संचालक डॉ. अजमेर सिंह कुशवाह ने अजीबोगरीब कारनामे को अंजाम दिया है। शासन प्रशासन को झूठी रिपोर्ट पेश कर उन्‍होने एक अवार्ड भी लिया है। इस अवार्ड को पाने के लिये डॉ. कुशवाह ने बेजुबान मवेशिया का सहारा लिया है। दरअसल टेकनार गौ संवर्धन केंद्र से प्रतिमाह एक लाख तीस हजार रूपये के आय अर्जित होने की झूठी रिपोर्ट शासन को सौंपी जिसके बाद सीएम ने उन्‍हें सम्‍मानित किया है।

दरअसल अक्‍टूबर 2021 में गौ संवर्धन केंद्र के संचालन का जिम्‍मा दृष्टिदात्री फाउंडेशन वेलफेयर सोसायटी टेकनार को सौंपा गया था। इस संस्‍था द्वारा गौ संवर्धन केंद्र का संचालन किया जा रहा था। इस बीच डॉ. कुशवाह ने इस सोसायटी की जानकारी के‍ बिना ही शासन-प्रशासन को एक झूठी रिपोर्ट पेश कर डाली। झूठी रिपोर्ट के मुताबिक दृष्टिदात्री फाउंडेशन वेलफेयर सोसायटी द्वारा ए टू मिल्‍क व इससे तैयार‍ किये जा रहे उत्‍पादों से प्रतिमाह एक लाख 15 हजार रूपये का मुनाफा होने लगा है। नक्‍सल प्रभावित जिले में इस झूठी रिपोर्ट की शासन ने जमकर सराहना की और इसी आधार पर संचालक पशु चिकित्‍सा सेंवाएं की ओर से डॉ. कुशवाह को प्रशस्ति पत्र भी प्रदान किया गया। यह प्रशस्ति पत्र सीएम भूपेश बघेल ने जगदलपुर कार्यक्रम के दौरान डॉ कुशवाह ने प्राप्‍त किया है। कार्यक्रम 24 नवंबर 2021 को आयोजित था। चिराग परियोजना के शुभारंभ मौके पर यह प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया था। इधर जिस संस्‍था को बेहतर कार्य के लिये यह प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाना बताया जा रहा है, उसे इस बात की जानकारी काफी देर से मिली

कभी नहीं हुआ मुनाफा – प्रेमशीला

दृष्टिदात्री फाउंडेशन वेलफेयर सोसायटी टेकनार की संचालिका प्रेमशीला नाग व विमल सिंह ने बताया कि जबसे उनकी संस्‍था द्वारा गौ संवर्धन केंद्र का संचालन किया जा रहा है, तब से वो नुकसान में ही चल रहे हैं। एक लाख पंद्रह हजार रूपये का मासिक मुनाफा किसी भी महीने क्‍या साल भर के भीतर भी नहीं हुआ है। प्रेमशीला ने यह भी बताया कि मुनाफे से संबंधित रिपोर्ट बनाते वक्‍त उनसे कोई चर्चा भी नहीं की गयी। रिपोर्ट कब बनायी गयी, कब शासन को भेजी गयी इस संबंध में प्रेमशीला ने कोई भी जानकारी होने से साफ इंकार किया है।

दो दिन से भूखी हैं गायें—-

टेकनार गौसंवर्धन केंद्र का संचालन दृष्टिदात्री फाउंडेशन वेलफेयर सोसायटी से लेकर किसी अन्‍य संस्‍था को सौंपने की तैयारी विभाग ने की है। इसके लिये दो दिन पहले उप संचालक डॉ. कुशवाह ने उक्‍त संस्‍था से जिम्‍मा छीन लिया। शुक्रवार को डॉ. कुशवाह ने सोसायटी के कर्मचारियों की अनुपस्थिति में कार्रवाई की है । इसके बाद से गायों को दाना चारा भी नहीं मिल सका है।

तत्‍काल की जायेगी चारे की व्‍यवस्‍था- विनीत

इधर इस पूरे मामले की जानकारी जब कलेक्‍टर विनीत नंदनवार को दी गयी तो उन्‍होने तत्‍काल चारा दान की व्‍यवस्‍था कराने की बात कही है। इधर सोसायटी पर कार्रवाई को लेकर कलेक्‍टर ने कहा कि किस आधार पर कार्रवाई की गयी, इस संबंध में विभाग से जानकारी ली जायेगी। प्रशस्ति पत्र के मामले में कलेक्‍टर ने कहा कि कौन सी रिपोर्ट पेश विभाग ने प्रशस्ति पत्र प्राप्‍त किया है इसकी भी जांच की जाएगी

——————–

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The Aware News
%d bloggers like this: