दन्तेवाड़ा- वैश्विक महामारी से निपटने को भारत एक जुट खड़ा है। २१ दिनों के लॉकडाउन में गरीब-निसहाय और श्रमवर्ग के तबके को बड़ी गहरी चोट लगी है, लेकिन ऐसे संकटकाल में मदद करने वाले हाथ भी तेजी से बढ़ रहे है।

दन्तेवाड़ा जिले के गीदम में संतोष गुप्ता ने राशन प्रयास कीट बनाकर लोगो तक पहुँच रहे है। जिन्होंने ने राशनकीट में 5 किलो चावल,2 किलो आटा, १ नमक पैकेट,१किलो तेल पैकेट, हल्दी,मिर्ची,धनिया के १००-१००ग्राम के पैकेट के साथ हाथ और कपड़ा धोने का १-१साबुन कीट में रखकर निःशुल्क में लोगो को बांट रहे है।

गीदम बस्ती के निचले इलाके में उन्होंने रविवार को 11 लोगो को इस तरह की मदद की।

देखिये ये वीडियो:-

इतना ही नही गीदम में दूध डेयरी के संचालक दिनेश शर्मा ने इन दिनों लोगो की मदद में अपनी

सिध्दी विनायक दुन्ध डेरी से समाज के जरूरत मन्दों के लिए अपने दुग्ध डेरी के प्रोडक्ट पर बाजार मूल्य से 30% प्रतिशत दाम घटाकर बस स्टैंड गीदम के सिध्दि विनायक रेस्टोरेंट के सामने दूध दही पनीर खोवा रबड़ी घी का वितरण सुबह 7 से 9 तथा शाम 5 से 7 तक आम लोंगो की जरूरत की पूर्ति कर रहे है। जहा दूध जो खुले बाजार में 60 रुपये विक्रय हो रहा उस शुद्ध दूध को मात्र 40 रुपये के विक्रय करने का बीड़ा उठाया..डेरी संचालक श्री शर्मा ने बताया की ऐसे समय पर बच्चे बूढे बीमारों के लिए बड़ी परेशानी होती है इसलिए मदद का एक छोटा सा प्रयास है।