दंतेवाड़ा@ नंदलाल मुडामी अनुसूचित जनजाति मोर्चा प्रदेश महामंत्री ने कांग्रेस की सरकार के कोरोना काल के बीच शराब बेचने के निर्णय को दुर्भाग्यपूर्ण बताया उन्होंने प्रेसनोट के जारी कर कहा कि कांग्रेस सरकार द्वारा घर घर में शराब देने के बजाए अगर घर घर तक वैक्सीन पहुंचने का काम किया जाता तो ज्यादा अच्छा होता
केंद्र सरकार के लगातार प्रयासों सहयोग के बावजूद भी वैसीनेशन के मामले में छत्तीसगढ़ की सरकार नाकाम हुई है कोरोना महामारी दिन दुगुनी रात चौगुनी तेजी फैल रहा है कई घरों के चिराग बुझ चुके हैं पूरे छत्तीसगढ़ में मातम पसरा हुआ है हर तरफ चिक पुकार मचा हुआ है ऐसे विषम परिस्थिति में कांग्रेस का यह निर्णय जनता के जान के साथ खिलवाड़ है

कांग्रेस ने चुनाव घोषणा पत्र में वादा किया था कि पूरे छत्तीसगढ़ में सरकार बनते ही शराब बंदी किया जाएगा आज लगभग पौने तीन साल होने जा रहा है सरकार ने कोई कदम नही उठाया बल्कि सरकार द्वारा लगातार शराब की बिक्री को किसी न किसी बहाने बढ़ावा दिया जा रहा है ।जो घोर निंदनीय हैं.पूरी दुनिया के वैज्ञानिक और सरकारे इस महामारी से लड़ने के लिए हर व्यक्ति का यूनिटी पावर (रोग प्रतिरोधक क्षमता )कैसे बड़े इस दिशा में काम कर रहे हैं और छत्तीसगढ़ की सरकार उल्टा शराब देकर व्यक्ति की रोग प्रतिरोध क्षमता को कम करने का काम करने जा रहे हैं जो दुर्भाग्यपूर्ण हैं

इस वैश्विक महामारी में हर घर हर व्यक्ति तक वेक्सीन पहुंचे इस दिशा में काम होना चाहिए। सरकार छत्तीसगढ़ के जनता की जीवन की चिंता करते हुएतत्काल शराब घर पहुंच बिक्री के निर्णय को जल्द वापस लेना चाहिए।