दंतेवाड़ा। जिला कांग्रेस कमेटी द्वारा आज शहीद पं. विद्याचरण शुक्ल जी की पुण्यतिथि को शहादत दिवस के रूप में मानते उन्हें याद किया। वहीं कांग्रेसियों ने जिला मुख्यालय के पेट्रोल पंप में पेट्रोल-डीजल की बेहताशा बढ़ रही कीमतों को लेकर धरना प्रदर्शन किया। जिला कांग्रेस कार्यालय में पं. विद्याचरण शुक्ल की तैलचित्र पर दीप प्रज्वलित का पुष्प अर्पित की गई। इस दौरान पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष श्री छविंद्र कर्मा ने उनके जीवन पर प्रकाश डालते कहा कि 1957 में पहली बार महासमुंद में से लोकसभा चुनाव जीता और सबसे युवा सांसद बने। यह उनके खुद में ही रिकॉर्ड था कि वे नौ बार लोकसभा के सांसद रहे। 1966 में पहली बार इंदिरा गांधी कैबिनेट में शामिल हुए। वे चंद्रशेखर सरकार में भी विदेश मंत्री रहे।1957 के आम चुनाव में कांग्रेस पार्टी ने महासमुंद सीट से चुनावी अखाड़े में उतारा। बड़े बहुमत के साथ जीत दर्ज कर उन्होंने भारतीय संसद में अपनी जगह बनाई।1962 में महासमुंद से दोबारा सांसद बने। वे उस वक्त के युवा सांसदों में से एक थे।1962 में महासमुंद से और 1971 में रायपुर से सांसद बने।1977 में उन्होने लोकसभा का चुनाव रायपुर से लड़ा पर आपातकाल से उपजे आक्रोश के कारण वे हार गये। नौ लोकसभा चुनावों में जीतकर उन्होंने कांग्रेस पार्टी में अपनी जबरदस्त धाक जमाई।1966 में जब इंदिरा गांधी प्रधानमंत्री बनी, तो उन्होंने विद्या चरण शुक्ल को कैबिनेट मंत्री नियुक्त किया। राजनीतिक सफर के दौरान उन्हें कई बेहद महत्त्वपूर्ण मंत्रालय मिले जैसे दूरसंचार, गृह, रक्षा, वित्त, योजना, सूचना एवं प्रसारण, विदेश, संसदीय, जल संसाधन। 26 मई, 2013 को कांग्रेस की ‘परिवर्तन यात्रा’ के दौरान नक्सलियों ने कांग्रेस नेताओं के काफिले पर घात लगाकर हमला किया था, जिसमें कांग्रेस के वरिष्ठ नेता महेंद्र कर्मा समेत कई लीडर शहीद हुए और विद्याचरण शुक्ल व अन्य जख्मी हो गए थे। शुक्ल को गुड़गांव के मेदांता अस्पताल में भर्ती करावाया गया था, जहां उनका दुखद निधन हो गया। वहीं सांसद प्रतिनिधि व जिला उपाध्यक्ष वीरेंद्र गुप्ता, महामंत्री संगठन सलीम रजा उस्मानी, रितेश जैन, ब्लाक अध्यक्ष विवेक देवांगन ने भी उनके जीवनी पर प्रकाश डाला।

जिला कांग्रेस भवन में कार्यक्रम के बाद जिला मुख्यालय के पेट्रोल पंप में कांग्रेसियों ने पेट्रोल-डीजल के बढ़ रही कीमतों व महंगाई को लेकर धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान महामंत्री संगठन सलीम रज़ा उस्मानी मनीष भट्टाचार्य, मनोज सिंह, वरिष्ठ कांग्रेसी पी. एन उरकुड़े, नारायण सिंह भदौरिया, ब्लाक अध्यक्ष सोहन भवानी, सरताज रजा, एन नागराज, जयदीप मालवीय, मुकुंद ठाकुर, अनिल कर्मा, विमल सलाम, मंगल मौर्य, आकाश विश्वास, सर्वेश राठौर, श्रीमती इंदिरा शर्मा, श्रीमती गीतांजलि कुशवाह, श्रीमती इंदिरा ठाकुर, श्रीमती किरण जायसवाल, श्रीमती चंपा मरकाम, श्रीमती किरण ठाकुर एवं अन्य मौजूद थे।