दंतेवाड़ा@ कोविड-19 महामारी वैश्विक बीमारी घोषित है, देश इसके चपेट में है। ऐसे में सिर्फ बचाव के उपाय सावधानी ही संक्रमण के फैलाव को रोकने का एकमात्र उपाय है।
लेकिन दंतेवाड़ा की तस्वीर इसके उलटफेर कहानी गढ़ती नज़र आ रही है। दरअसल पशुधन विभाग के टेकनार में बने माँ दंतेश्वरी गौ सम्वर्धन एवं शोधकेन्द्र में मध्यप्रदेश के बीना खुरई से भूसा भरा 10 चक्का वाहन 3 दिनों से खड़ा है. जिसे बिना सेनेटाइज किये विभाग द्वारा खाली भी करवाया जा रहा है। इतना ही नही ट्रक पर सवार लोग भी बिना मास्क के असावधानी बरतते हुए इत्मीनान से घूमते फिरते भी नज़र आ रहे हैं। इधर जब इस बात की खबर मीडिया तक पहुँची तो दंतेवाड़ा से प्रिंट मीडिया के रिपोर्टरों ने गौ शाला में जाकर वस्तु स्थिति जाननी चाही। लेकिन मीडियाकर्मियों को आधे घण्टे तक ही गेट में खड़ा कर दिया उन्हें अंदर प्रवेश करने ही नही दिया गया।
सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि गाड़ी जिस प्रदेश से परिवहन करते हुए दंतेवाड़ा पहुँची है, वहाँ कोरोना संक्रमण के रोज नये मामले बढ़कर नजर आ रहे हैं। ऐसे में दंतेवाड़ा जिले में पशु विभाग के द्वारा इस तरह असावधानीपूर्वक गाड़ी को खाली करवाना उचित नही है?

इधर इसी मामले में पशु विभाग के अधिकारी डॉक्टर अजमेरा ने कहा कि गाड़ी के अंदर ही उन्हें रखा गया है, मास्क सेनेटाइजर भी दिया गया है।