बीजापुर- बीजापुर विकासखंड की अन्दरूनी ग्राम पंचायत कडेनार में चल रहे महात्मा गांधी नरेगा के कार्यो का मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत पोषण चंद्राकर ने निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान योजना से जुड़े अधिकारी एवं मैदानी अमलो कार्य की गुणवत्ता बनाये रखने के लिए निर्देशित किया।
जहां कभी नक्सली दहशत के चलते निर्माण कार्य बंद पड़े थे। किन्तु ग्रमीणों की मांग पर विगत 2 वर्षों से महात्मा गांधी नरेगा अंर्तगत कार्य स्वीकृत कर कराये जा रहे हैं। लॉक डाउन के दौरान महात्मा गांधी नरेगा योजना यहाँ के जाबकार्डधारी परिवारों के लिए मददगार साबित हुई। जिला सीईओ ने पंचायत में योजना से बन रहे आंगनबाड़ी केंद्र, मतस्य पालन तालाब अनाज गोदाम का निरीक्षण किया। उन्होंने योजना से जुड़े कर्मचारियों को कहा कि वर्तमान समय मे गांव में काम की कमी नही होनी चाहिए । गांव के जाबकार्डधारी परिवारों को आशिक से अधिक मांग आधारित कार्य उपलब्ध कराए । कार्य स्थल पर हाथ धुलाई की व्यवस्था के साथ प्रत्येक मजदूरों के बीच फिजिकल डिस्टेंसिग का पालन अनिवार्य रूप से किये जायें साथ ही मास्क अथवा गमछे से मुँह ढके रहने पर ही मजदूरों को काम पर लगाया जाए।