दंतेवाड़ा- दंतेवाड़ा जिले में संचलित विदेशी-देशी मदिरा दुकान में काम करने वाले कर्मचारियों पर दंतेवाड़ा आबकारी अधिकारी तिवारी लगातार काम से निकालने का दबाव झाड़ते हुये बीते हफ्तेभर से धमकी-चमकी कर्मचारियों को दे रहे है। ऐसा आरोप जिले की शराब दुकानो में काम कर रहे 27 कर्मचारियों ने दंतेवाड़ा कलेक्टर दीपक सोनी से करने कलेक्ट्रेट परिसर लिखित शिकायती आवेदन लेकर गुहार लगाने पहुँचे थे। दिये गये आवेदन में बेवजह दबाव बनाने की बात लिखी हुई है। साथ ही कार्यरत कर्मचारियों ने अपने स्थानीय होने का हवाला भी दंतेवाड़ा कलेक्टर को देते हुए लिखा है कि बीते 03 वर्षो से लगातार हम लोग शराब दुकानों में कार्यरत है। यही नौकरी हमारी जीविका साधन है। आज पर्यंत तक कभी ओवर रेटिंग और अन्य किसी भी तरह की शिकायत किसी भी दुकान के खिलाफ नही हुई है। दरअसल पूरा मामला लेन देन का है जानकारी यह भी मिल रही हैं कि नये अधिकारी सभी दुकानों से मासिक एक मुश्त मोटी रकम मांग रहे है। जिसकी वजह से ही कार्यरत शराब दुकानों में कर्मचारियों को हटाने का दबाव बनाया जा रहा है।

हालांकि यह सिर्फ कहासुनी आरोप है। सत्यता कितनी है इस बात पर यह तो जांच के बाद ही स्पष्ट हो सकता है। मगर दाल में काला जरूर है भले ही नमक बराबर हो।