नपा उपाध्यक्ष धीरेंद्र की पुरानी आदत आपस में लड़ाने की

दंतेवाड़ा@नगर पालिका के उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप सिंह द्वारा कल पत्रकारवार्ता कर कांग्रेस कमेटी के जिलाध्यक्ष व कर्मा परिवार के ऊपर कई आरोप लगाए। आज नपा उपाध्यक्ष के बयान पर पलटवार करते हुए कांग्रेस प्रवक्ता नारायण सिंह भदौरिया व अनिल कर्मा ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा कि धीरेंद्र प्रताप पर आरोप लगाते हुए कहा कि उपाध्यक्ष बनने के बाद नगर पालिका दंतेवाड़ा में टेंडर का किस तरह गोलमाल किया जा रहा है सभी को पता है। उपाध्यक्ष द्वारा अपने घर के लोगों को ही टेंडर दिलवाते आ रहे हैं यह बात जग जाहिर है। नगर पालिका दंतेवाड़ा से जो टेंडर निकलते है उनका व्यापक प्रचार प्रसार नहीं होता है। प्रवक्ता द्वय ने उपाध्यक्ष पर आरोप लगाते हुए कहा कि जिस दिन धीरेंद्र प्रताप सिंह के कार्यकाल के कार्यों की जांच हो जाए उस दिन उन पर कानूनी करवाई होने से कोई नहीं रोक सकता। सर्व विदित है कि स्व. दीपक कर्मा अब इस दुनिया में नहीं है उन पर इस तरह की बयान बाजी श्री सिंह के ओछी मानसिकता को दर्शाता है।

अनिल कर्मा कांग्रेस

प्रवक्ता नारायण भदौरिया ने कहा कि धीरेंद्र ने विधायक देवती कर्मा से अपील की है कि वह कांग्रेस जिलाध्यक्ष से दूरी बनाए। मैं श्री सिंह से पूछना चाहता हूं कि किसी के निजी मामले बोलने का हक उन्हें किसने दे दिया। मुझे लगता है जिलाध्यक्ष अवधेश की बढ़ती लोकप्रियता के चलते श्री सिंह घबरा गए हैं और इस तरह की बयानबाजी कर आपस में लड़ाने का प्रयास कर रहे हैं। अनिल कर्मा ने कहा कि नपा उपाध्यक्ष पहले अपने पार्टी के बारे सोचें। उनके पार्टी के अंदर उन्हें कितने लोग पसंद करते हैं वह यह बात खुद अच्छे से जानते हैं। नपा दंतेवाड़ा में अध्यक्ष पायल गुप्ता को गुमराह कर कितने टेंडर अपने परिवार वालों को दिलवा चुके हैं यह बात किसी से छुपी नही है। अनिल ने आगे कहा कि नपा के अधिकारी-कर्मचारी नपा उपाध्यक्ष के कार्यप्रणाली से कितने त्रस्त हैं यह बात भी लोग दबी जुबां से कहते है। जिलाध्यक्ष अवधेश गौतम की जनता के बीच छबि खराब करने का असफल प्रयास धीरेंद्र प्रताप द्वारा किया गया है, जिसकी जितनी निंदा की जाए उतनी कम है।